पंजाब के फतेहगढ़ साहिब में राहुल गांधी ने कहा- सैम पित्रोदा को अपने बयान पर शर्म आनी चाहिए, देश से माफी मांगे

लोकसभा चुनाव: गुरदासपुर से बीजेपी उम्मीदवार सनी देओल ने चुनाव प्रचार बंद होने के बाद की जनसभा, EC ने भेजा नोटिस

लोकसभा चुनाव 2019: कांग्रेस को झटका, वजोत सिंह सिद्धू के वोकल कॉर्ड हुए खराब, चुनाव-प्रचार से रहेंगे दूर

लोकसभा चुनाव: पंजाब में प्रचार के लिए पहुंचे अरविंद केजरीवाल को दिखाए गए काले झंडे

पंजाब के तरनतारन में BSF ने मार गिराया पाकिस्तानी ड्रोन, डेढ़ घंटे तक रहा ब्लैक आउट

लोकसभा चुनाव: पंजाब में आम आदमी पार्टी को लगा बड़ा झटका, बीजेपी में शामिल हुए सांसद हरिंदर सिंह खालसा

राहुल गांधी की रैली में भाषण देने का मौका नहीं मिलने से नाराज हुए सिद्धू, कहा- मुझे मेरी जगह दिखा दी

2019-05-13_RahulGandhi.jpg

पंजाब के फतेहगढ़ साहिब में एक रैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा है कि सिख दंगों को लेकर सैम पित्रोदा ने जो भी कुछ भी कहा है वह गलत है उनको देश से माफी मांगनी चाहिए. राहुल ने कहा, 'मैंने उनको यह बातें फोन पर कही हैं. मैंने उनसे कहा जो कुछ भी उन्होंने कहा वह गलत है और उनको इस पर शर्म आनी चाहिए वह सार्वजनिक रूप से माफी मांगे'. 

आपको बता दें कि 1984 के सिख दंगों को लेकर कांग्रेस नेता सैम पित्रोदा ने एक विवादित बयान था. एएनआई को दिए इंटरव्यू में पित्रोदा ने कहा था ' मैं इसके बारे में नहीं सोचता, 1984 के बारे में अब क्या? आपने पिछले 5 साल में क्या किया. 84 में हुआ तो हुआ. आपने क्या किया'? उनके इस बयान से दिल्ली और पंजाब में कांग्रेस को नुकसान की आशंका को देखते हुए राहुल गांधी ने तुरंत माफी मांगने के लिए कहा था.  

बयान पर बवाल मचने के बाद पित्रोदा ने माफी मांग ली है. पित्रोदा ने कहा है कि उनकी हिंदी खराब है. उन्होंने सफाई दी है कि वे 'जो हुआ वह बुरा हुआ' कहना चाहते थे. 'बुरा हुआ' का वे दिमाग में अनुवाद नहीं कर पाए. इसके साथ उन्होंने यह भी कहा कि उनके बयान को तोड़ मरोड़कर पेश किया गया.

हालांकि तब तक पित्रोदा और कांग्रेस बीजेपी के निशाने पर आ चुकी थी. केन्द्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि पित्रोदा की टिप्पणियां "हैरान" करने वाली हैं और किसी को भी इसकी उम्मीद नहीं थी. जावड़ेकर ने कहा, "उन्होंने (पित्रोदा) कहा कि 1984 में नरसंहार हुआ. तो क्या? देश को यह पूरी तरह से अस्वीकार्य है और हम इसे बर्दाशत नहीं कर सकते." बीजेपी नेता ने कांग्रेस पर लोगों की भावनाओं से खेलने का आरोप लगाया. जावड़ेकर ने कहा, "पित्रोदा राजीव गांधी के साथी और राहुल गांधी के गुरु हैं. अगर गुरु ऐसा है तो 'चेला' कैसा होगा? कांग्रेस यही कर रही है. पूरी तरह से जनता की भावनाओं के प्रति असंवेदनशील." 

बीजेपी नेता संबित पात्रा ने कहा कि यह मामला 1984 दंगे से जुड़ा हुआ है. कल राजीव गांधी और राहुल गांधी के राजनीतिक गुरु सैम पित्रोदा के बयान की हम निंदा करते हैं...वो दंगा नहीं था बल्कि वह नरसंहार था जिसे भुलाया नहीं जा सकता है. उस वक्त कांग्रेस के नेताओं ने वोटर लिस्ट से, स्कूल की लिस्ट से सिखों का चयन किया. उसके बाद उस वक्त नरसंहार हुआ था. कांग्रेस पार्टी ने कल यह बयान देकर जो काम किया है, इस मामले में सैम पित्रोदा को पार्टी से निकालकर सोनिया गांधी और राहुल गांधी को माफी मांगनी चाहिए.'



loading...