केरल, महाराष्ट्र, कर्नाटक में बाढ़ का कहर जारी, 86 लोगों की मौत, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी

राहुल गांधी कल अपने संसदीय क्षेत्र वायनाड जाएंगे, बाढ़ पीड़ितों से करेंगे मुलाकात

केरल, महाराष्ट्र, कर्नाटक में भारी बारिश से हाहाकार, कोच्चि एयरपोर्ट 3 दिन के लिए बंद

केरल: त्रिसूर में पीएम मोदी ने कहा- जनता-जनार्दन ने बीजेपी को एक बार फिर सत्‍ता सौंप दी, सिर झुकाकर आभार व्यक्त करता हूं

पीएम मोदी ने केरल के गुरुवायूर में श्रीकृष्ण मंदिर में की पूजा-अर्चना, कमल के फूलों से किया तुलादान

केरल: वायनाड में राहुल गांधी ने कहा- देश को बाँटने के लिए नफरत का जहर फैला रहे है पीएम मोदी

अगले 24 घंटों में केरल पहुंचेगा मानसून, नागालैंड, छत्तीसगढ़, मिजोरम में भारी बारिश की आशंका

2019-08-10_HeavyRain.jpg

देश के दक्षिणी राज्‍यों में बारिश और बाढ़ का कहर जारी है. तेज बारिश और बाढ़ के कारण महाराष्‍ट्र में अब तक 30 लोगों की मौत हो चुकी है. इसके अलावा केरल में 42 लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है. कर्नाटक में भी बाढ़ से हालत काफी खराब हैं. यहां करीब 10 लोगों की मौत हुई है. सेना, वायुसेना, नौसेना, एनडीआरएफ समेत अन्‍य टीमें बचाव अभियान में जुटी हैं. तीनों राज्‍यों के बाढ़ प्रभावित इलाकों से लाखों लोगों से सुरक्षित स्‍थानों पर पहुंचाया गया है. रेस्‍क्‍यू अभियान लगातार जारी है.

महाराष्‍ट्र के सांगली और कोल्‍हापुर में बाढ़ से हालात बेहद खराब हैं. ये दोनों ही जिले बाढ़ के पानी में डूबे हुए हैं. समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक शुक्रवार को एनडीआरएफ की टीमों ने इन दोनों जिलों से करीब 10 हजार लोगों को सुरक्षित स्‍थान तक पहुंचाया है. सांगली जिले से करीब 8 हजार लोग बचाए गए हैं जबकि कोल्‍हापुर से 2000 हजार लोगों को बचाया गया है.

गुजरात में बनाए गए सरदार सरोवर बांध के गेट शुक्रवार को पहली बार खोलकर पानी छोड़ा गया है. इस बांध में पानी के स्‍तर की सीमा 131 मीटर है. इसे ही बरकरार रखने के लिए इससे पानी छोड़ा गया है. बता दें कि गुजरात में भी तेज बारिश हो रही है.

भारतीय सेना के अनुसार महाराष्‍ट्र, कर्नाटक, केरल और तमिलनाडु में बाढ़ में फंसे लोगों को बचाने के लिए सेना की 123 रेस्‍क्‍यू टीमें लगाई गई हैं. ये टीमें चारों राज्‍यों के 16 बाढ़ प्रभावित जिलों में रेस्‍क्‍यू अभियान चला रही हैं.



loading...