ताज़ा खबर

दिल्ली: संसद के सामने किसनों का धरना, रैली में पहुंचे केजरीवाल ने कहा- आप लोगों का स्वागत है आप बार-बार दिल्ली आइये

हामिद निहाल अंसारी की हुई वतन वापसी, वाघा-बार्डर पर धरती चूमकर ली एंट्री

CBI विवाद: बिचौलिये मनोज प्रसाद को कोर्ट से मिली जमानत, जानें- पूरा मामला

पीएम मोदी ने कहा- क्या किसी ने सोचा था 1984 दंगों के दोषियों को सजा मिलेगी, राफेल पर कांग्रेस को दिया करारा जवाब

राहुल गांधी ने कहा- किसानों की कर्ज माफी तक पीएम मोदी को न सोने दूंगा न बैठने दूंगा, नोटबंदी दुनिया का सबसे बड़ा घोटाला

शीतकालीन सत्र: राफेल और सिख दंगो के मुद्दे पर हंगामे की भेंट चढ़ा प्रश्नकाल, लोकसभा कल तक के लिए स्थगित

1984 सिख दंगो में उम्रकैद की सजा मिलने के बाद सज्जन कुमार ने कांग्रेस से दिया इस्तीफा

2018-11-30_FarmaRaly.jpg

वामपंथी दलों की अगुआई में देशभर से आए हजारों किसान संसद भवन के सामने धरना देने पहुंचे. किसान कर्जमाफी, फसलों के दाम में वृद्धि की मांग कर रहे हैं. किसानों ने खेती पर संकट को लेकर संसद का विशेष सत्र बुलाने की मांग की. ऑल इंडिया किसान संघर्ष समन्वय समिति (एआईकेएससीसी) के संयोजक हन्नान मोल्लाह ने बताया कि प्रदर्शन में देश के 207 छोटे-बड़े किसान संगठन शामिल हैं. 

धरना वाम दलों की अगुआई में हुआ, इसलिए माकपा प्रमुख सीताराम येचुरी और भाकपा नेता डी. राजा मौजूद थे. कांग्रेस से पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी, राकांपा से शरद पवार, आम आदमी पार्टी प्रमुख और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल, नेशनल कॉन्फ्रेंस के डॉ. फारुक अब्दुल्ला, लोकतांत्रिक जनता दल के शरद यादव, तृणमूल कांग्रेस के दिनेश त्रिवेदी शामिल हुए.

राहुल गांधी ने कहा कि किसानों और युवाओं के लिए एक होना पड़ेगा. राहुल ने कहा, ‘देश का किसान आपके (मोदी के) दोस्त अनिल अंबानी का विमान नहीं मांग रहा, वह सिर्फ अपना हक मांग रहा है. आज हिंदुस्तान के सामने दो बड़े मुद्दे हैं, पहला किसाने के भविष्य का मुद्दा और दूसरा युवाओं के रोजगार का. इनके भविष्य के लिए जनता को अगर मुख्यमंत्री या प्रधानमंत्री को बदलना पड़े तो बदल दो.

केजरीवाल ने कहा- मैं दिल्ली का मुख्यमंत्री हूं. इस नाते आप लोगों का दिल्ली में स्वागत है. आप बार-बार दिल्ली आइए. मुझे दुख इस बात का है कि आप दिल्ली दुख की घड़ी में आए हैं, दुखी होकर आए हैं. सरकार से नाराज होकर आए हैं. भाजपा ने पिछले चुनाव के पहले किसानों से जितने वादे किए थे, उन सारे वादों से मुकर गई. स्वामीनाथन रिपोर्ट लागू करने का वादा किया था, 100 रुपए लागत पर 50 रुपए मुनाफा देंगे. अब सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दिया कि स्वामीनाथन रिपोर्ट लागू नहीं कर सकते. फसल बीमा योजना किसान डाका योजना है.

सीताराम येचुरी ने कहा, ''आज एक वैकल्पिक सरकार की जरूरत है. किसान मोदी सरकार को हटाएंगे और ऐसी सरकार लाएंगे, जो उनके हित में नीतियां बनाए. हम महाभारत के पांडवों की तरह मोदी सरकार को हराएंगे. कौरव 100 भाई थे, इनमें से दो के नाम ही लोग जानते हैं दुर्योधन और दुशासन. भाजपा भी कहती है कि हम इतनी बड़ी पार्टी हैं, लेकिन उनके बाकी नेताओं को कोई नहीं जानता. दुर्योधन और दुशासन की तरह मोदी-शाह का नाम ही चलता है.

किसानों के मार्च को लेकर दिल्ली पुलिस ने खास इंतजाम किए हैं. कॉन्स्टेबल से लेकर सब इंस्पेक्टर रैंक के कुल 3500 पुलिसकर्मियों, बाहरी फोर्स की 21 कंपनी जिनमें 2 महिला कंपनी शामिल, इंस्पेक्टर से लेकर अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त रैंक के कुल 166 अफसरों को इस स्पेशल अरेंजमेंट ड्यूटी में लगाया गया है. कुछ जरूरी पुलिस थानों में रिजर्व पुलिस भी एक्टिव मोड पर है. 



loading...