उत्तर भारत में तूफ़ान ने मचाई भारी तबाही, बिजली गिरने से हुई 48 की मौत; 12 राज्यों में बारिश का अलर्ट

कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद के बयान का लश्कर-ए-तैयबा ने किया समर्थन, भाजपा ने सोनिया और राहुल गांधी से माँगा जवाब

कांग्रेस नेता सैफुद्दीन सोज के बयान पर सुब्रमण्यम स्वामी ने दिया करारा जवाब, कहा- मुशर्रफ को पसंद करने वालों को पाकिस्तान भेजेंगे

जस्टिस चेलमेश्वर आज सुप्रीम कोर्ट से हो जायेंगे रिटायर, कोलेजियम में बड़ा बदलाव

नोटबंदी के दौरान सबसे ज्यादा पुराने नोट जिस बैंक में जमा हुए उसके निदेशक हैं अमित शाह, आरटीआई से खुलासा

अलकायदा, आईएस के नए संगठनों पर मोदी सरकार ने लगाया प्रतिबंध

नौकरी के नाम पर UP के युवाओं से घाटी में पत्थरबाजी के लिए बनाया दबाव, जान बचाकर लौटे युवक

2018-06-09_biharpeoplekilled.jpg

मानसून ने उत्तर भारत में कई राज्यों में अपना असर दिखा दिया है. उत्तर प्रदेश, बिहार और मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों में शुक्रवार को मानसून के पहले की बारिश हुई. इन राज्यों में बारिश और बिजली गिरने के कारण 48 लोगों की मौत हो गई. मौसम विभाग ने देश के 12 राज्यों में तेज बारिश का अलर्ट जारी किया है.
 
बताया जा रहा है पिछले 24 घंटों के दौरान बारिश और बिजली गिरने से बिहार में 24, उत्तर प्रदेश में 11, झारखंड में 9, ओडिशा और मध्य प्रदेश में दो-दो लोगों की मौत हुई है.

आने वाले दिनों में दिल्ली, उत्तर प्रदेश, बिहार, मध्य प्रदेश और राजस्थान के कई इलाकों में तूफ़ान और बारिश के संकेत मिले हैं.

बताया जा रहा है मानसून दक्षिण राज्यों की ओर चल पड़ा. गुजरात और कर्नाटक के तटीय इलाकों में तेज बारिश से जनजीवन प्रभावित हुआ है. ओडिशा और छत्तीसगढ़ में वक्त से पहले मानसून पहुंच गया. 

बिहार में 31, झारखंड में 8, मध्य प्रदेश में 7, ओडिशा में तीन लोग घायल हुए हैं. राजस्थान, पंजाब और हरियाणा में अभी भी गर्मी बनी हुई है.

मौसम विभाग के अनुसार, 9 जून को महाराष्ट्र, गोवा, कर्नाटक, केरल, ओडिशा, त्रिपुरा, मिजोरम, नगालैंड, मणिपुर, आंध्र प्रदेश, छत्तीसगढ़, तेलंगाना में भारी बारिश हो सकती है. 

अवगत करा दें कि मई से अब तक तूफान और बिजली गिरने से देशभर में 366 से अधिक लोगों की जान जा चुकी है. मई की शुरुआत से उत्तर भारत सहित देश के कई राज्यों में मौसम के मिजाज में तेजी से बदलाव देखा गया. दिल्ली, उत्तर प्रदेश, राजस्थान और बिहार में तूफान का असर ज्यादा रहा.



loading...