हरियाणा विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस में बड़ा बदलाव, कुमारी सैलजा को बनाया गया प्रदेश अध्यक्ष

बबीता फोगाट ने हरियाणा पुलिस से दिया इस्तीफा, बीजेपी के टिकट पर लड़ सकती हैं विधानसभा चुनाव

हरियाणा: असोटी-बल्लभगढ़ स्टेशन के पास तेलंगाना एक्सप्रेस में लगी आग, सभी यात्री सुरक्षित

फरीदाबाद में दिन-दहाड़े कांग्रेस प्रदेश प्रवक्ता विकास चौधरी की जिम के बाहर गोली मारकर हत्या

हरियाणा के सिरसा राहुल गांधी ने कहा- मोदी के नकली वादे कभी पूरे नहीं होंगे, लेकिन हमारे 72 हजार जरुर आयेंगे

लोकसभा चुनाव: फतेहाबाद के बाद कुरुक्षेत्र में पीएम मोदी ने कहा- मुझे एक से एक गाली दे रहे कांग्रेस के लोग, जवानों के खून का दलाल कहा गया

लोकसभा चुनाव: हरियाणा के फतेहाबाद में पीएम मोदी ने कहा- आपको जमीन हड़पने वालों को जेल भेजकर रहूंगा

2019-09-04_Sailja.jpg

कांग्रेस ने हरियाणा में अपने नए प्रदेश अध्यक्ष की घोषणा कर दी है. बुधवार को पार्टी की ओर से प्रेस कांफ्रेंस करके कुमारी सैलजा को हरियाणा कांग्रेस का प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने की घोषणा की गई. वहीं पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा को कांग्रेस विधायक दल (सीएलपी) नेता और राज्य चुनाव समिति का अध्यक्ष नियुक्त किया गया है. हरियाणा कांग्रेस के प्रभारी गुलाम नबी आजाद और संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल ने पत्रकारों को यह जानकारी दी.

आपको बता दें कि कुमारी सैलजा पूर्व केंद्रीय मंत्री हैं और वह राज्य में पार्टी का दलित चेहरा हैं. वहीं भूपेंद्र सिंह हुड्डा जाट बिरादरी से आते हैं. आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए पार्टी ने कुमारी सैलजा और हुड्डा को पार्टी में अहम पद देकर दलित+जाट वोटरों को संदेश देने की कोशिश की है.

हरियाणा में विधानसभा 2019 की कुल 90 सीटें हैं. भूपेंद्र सिंह हुड्डा यहां 2005 से 2014 तक लगातार दो बार मुख्यमंत्री रह चुके हैं. 2014 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने सबको चौंकाते हुए 47 सीटें जीतकर राज्य में पहली बार सत्ता में आई थी. इस बार बीजपी मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर की अगुवाई में चुनाव मैदान में उतरेगी. राज्य में तीसरी मुख्य पार्टी ओम प्रकाश चौटाला की इंडियन नेशनल लोकदल है. पिछले चुनाव में इनेलो राज्य में दूसरे नंबर पर रही थी.

आपको बता दें कि 2014 में हुए हरियाणा विधानसभा चुनावों में कुल 1,63,03,742 मतदाता थे जिनमें 87,96,794 पुरुष और 75,06,938 महिला मतदाता थे. कुल मतदाताओं में से 1,24,12,195 मतदाताओं ने अपने मताधिकार का उपयोग किया था और इसमें से 4224 मत रद्द हो गए थे. कुल 16,357 मतदान केंद्रों में वोट डाले गए थे. चुनाव लड़ने वाले प्रतिनिधियों की बात करें तो कुल 1351 प्रत्याशियों ने चुनाव लड़ा था जिसमें 1235 पुरुष और 116 महिला प्रत्याशी थे. जीतने वाले 90 विधायकों में 77 विधायक पुरुष और 13 महिला विधायक जीतकर आए.
 



loading...