कुलभूषण जाधव मामला : अंतरराष्ट्रिय कोर्ट ने भारत के पक्ष में सुनाया फैसला, पाकिस्तान नाराज

कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद के बयान का लश्कर-ए-तैयबा ने किया समर्थन, भाजपा ने सोनिया और राहुल गांधी से माँगा जवाब

कांग्रेस नेता सैफुद्दीन सोज के बयान पर सुब्रमण्यम स्वामी ने दिया करारा जवाब, कहा- मुशर्रफ को पसंद करने वालों को पाकिस्तान भेजेंगे

जस्टिस चेलमेश्वर आज सुप्रीम कोर्ट से हो जायेंगे रिटायर, कोलेजियम में बड़ा बदलाव

नोटबंदी के दौरान सबसे ज्यादा पुराने नोट जिस बैंक में जमा हुए उसके निदेशक हैं अमित शाह, आरटीआई से खुलासा

अलकायदा, आईएस के नए संगठनों पर मोदी सरकार ने लगाया प्रतिबंध

नौकरी के नाम पर UP के युवाओं से घाटी में पत्थरबाजी के लिए बनाया दबाव, जान बचाकर लौटे युवक

2017-05-18_Icj4.jpg

इंटरनेशनल कोर्ट ने कुलभूषण जाधव मामले भारत के हक में फैसला सुनाया है. कोर्ट ने जाधव की फांसी पर आखिरी आदेश आने तक रोक लगा दी है. कोर्ट के इस फैसले से पाकिस्तान सहम सा गया है. अब पाकिस्तानी दलों के नेता और जानकार लोग ये दावा कर रहे हैं कि उनकी सरकार ने सही तरीके से इंटरनेशनल कोर्ट में अपना पक्ष नहीं रखा. जिसके चलते कोर्ट का फैसला भारत के हक में हुआ.

लंदन में रहने वाले पाकिस्तानी मूल के वकील राशिद असलम ने डॉन अखबार को बताया कि पाकिस्तान की तैयारी बहुत कमजोर थी. यहां तक की पाकिस्तानी वकीलों ने अपना पक्ष रखने के लिए मिले 90 मिनट के वक्त का भी इस्तेमाल नहीं किया.

राशिद असलम ने कहा है कि पाकिस्तान के पास कोर्ट में पक्ष रखने के लिए 90 मिनट थे, लेकिन हमने 40 मिनट बर्बाद कर दिए. मैं हैरान था कि हमने अपनी दलीलें इतने वक्त में क्यों पूरी कर दीं.

पाकिस्तान के पूर्व अटॉर्नी जनरल इरफान कादिर ने कहा कि वो इस फैसले से हैरान हैं. साथ ही उन्होंने इसके लिए पाकिस्तानी वकीलों की गलती मानी. इरफान कादिर ने कहा कि पाकिस्तान की तरफ से जो वकील केस हैंडल कर रहे हैं, उनके पास तजुर्बा नहीं है. जो दलीलें वकीलों ने इंटरनेशनल कोर्ट में दी, वो बहुत कमजोर थीं.



loading...