Janmashtami 2018: भगवान श्री कृष्ण की पूजा करने के लिए इन चीजों का करें इस्तेमाल

2018-09-03_janmashtamipoojavidhi.jpg

आज मथुरा और वृन्दावन में जन्माष्टमी मनाई जा रही है. इस पर्व पर आप भी अपने घर या किसी मंदिर में भगवान श्रीकृष्ण की विशेष पूजा कर सकते हैं. ब्रह्मवैवर्त पुराण के अनुसार,भगवान श्रीकृष्ण की पूजा में कुछ खास चीजों का होना बहुत जरूरी है. जिनके बिना भगवान कृष्ण की पूजा अधूरी मानी जाती है. वैसे तो पूजा में कई चीजें होती हैं लेकिन आम लोगों के लिए समय और पैसों की कमी के चलते सभी चीजें लाना संभव नहीं हो पाता लेकिन हम आपको ऐसी ही कुछ खास चीजों के बारे में बता रहे हैं जो आसानी से मिल जाती हैं और उनके बिना भगवान की पूजा भी अधूरी मानी जाती है.

9 खास चीजों से करें भगवान श्रीकृष्ण की विशेष पूजा-

आसन- श्रीकृष्ण की मूर्ति स्थापना सुंदर आसन पर करनी चाहिए. आसन लाल,पीले या केसरिया रंग का व बेलबूटों से सजा होना चाहिए.

पाद्य- जिस बर्तन में भगवान के चरणों को धोया जाता है,उसे पाद्य कहते है. इसमें शुद्ध पानी भरकर,फूलों की पंखुड़ियां डालना चाहिए.

पंचामृत- यह शहद,घी,दही,दूध और शक्कर इन पांचों को मिलाकर तैयार करना चाहिए. फिर शुद्ध पात्र में उसका भोग भगवान को लगाएं.

अनुलेपन-  पूजा में उपयोग में आने वाले दूर्वा,कुंकुम,चावल,अबीर,अगरु,सुगंधित फूल और शुद्ध जल को अनुलेपन कहा जाता है.

आचमनीय-  आचमन(शुद्धिकरण)के लिए प्रयोग में आने वाला जल आचमनीय कहलाता है. इसमें सुगंधित द्रव्य व फूल डालना चाहिए.

स्नानीय- श्रीकृष्ण के स्नान के लिए प्रयोग में आने वाले द्रव्यों(पानी,इत्र व अन्य सुगंधित पदार्थ)को स्नानीय कहा जाता है.
फूल- भगवान श्रीकृष्ण की पूजा में सुगंधित और ताजे फूलों का विशेष महत्व है इसलिए शुद्ध और ताजे फूलों का ही प्रयोग करना चाहिए.

भोग-  जन्माष्टमी की पूजा के लिए बनाए जा रहें भोग में मक्खन, मिश्री,ताजी मिठाइयां,ताजे फल,लड्डू,खीर,तुलसी के पत्ते शामिल करना चाहिए.

धूप-  विभिन्न पेड़ों के अच्छे गोंद तथा अन्य सुगंधित पदाथों से बनी धूप भगवान कृष्ण को बहुत प्रिय मानी जाती है.



loading...