'लव जिहाद': केरल का एक और पैरंट पहुंचा सुप्रीम कोर्ट, कहा- बेटी के इस्लाम कबूलने की हो NIA जांच

अलकायदा, आईएस के नए संगठनों पर मोदी सरकार ने लगाया प्रतिबंध

नौकरी के नाम पर UP के युवाओं से घाटी में पत्थरबाजी के लिए बनाया दबाव, जान बचाकर लौटे युवक

अंतरराष्ट्रीय योग दिवसः पीएम मोदी ने देहरादून में 55 हजार लोगों के साथ किया योगासन, बोले- योग की वजह से भारत से जुड़ी दुनिया

पीएम मोदी ने नमो ऐप पर किसानों को संबोधित किया, कहा- 2022 तक दोगुनी आय करना हमारी सरकार का लक्ष्य

भारत ने कहा- पाकिस्तान से बातचीत को लेकर तीसरे पक्ष का दखल मंजूर नहीं, चीनी राजदूत ने दिया था प्रस्ताव

जम्मू-कश्मीर: महबूबा मुफ्ती ने दिया इस्तीफा, राज्यपाल से मिले उमर अब्दुल्ला, कहा- न समर्थन लेंगे और न ही देंगे, जल्द चुनाव हों

2017-10-30_surpeme54.jpg

सोमवार को केरल से 'लव जिहाद' का एक और मामला सामने आया है, अब वहां एक और परिवार सुप्रीम कोर्ट पहुंचा है. परिवार का दावा है कि उनकी लड़की ने लव जिहाद के चक्कर में पड़कर इस्लाम कबूल लिया. लड़की फिलहाल लापता है, परिवार का दावा है कि वह आतंकवादी संगठन IS में शामिल होने के लिए अफगानिस्तान निकल गई है.

जानकारी के मुताबिक , यह याचिका बिंदू संपथ नाम के शख्स ने दायर की है. परिवार ने खुद को भगवान को मानने वाला और देशभक्त बताया है. उनका एक लड़का भी है जो इंडियन आर्मी में है, वहीं बेटी डेंटल कॉलेज में पढ़ाई कर रही थी. परिवार ने उसके साथ पढ़ने वाले शख्स पर धर्म परिवर्तन करवाकर शादी करने का आरोप लगाया है. परिवार का कहना है कि उस शख्स ने खुद ईसाई धर्म छोड़कर इस्लाम कबूला था.

वहीं, आज केरल के बहुचर्चित लव जिहाद केस पर सुनवाई भी है. यह याचिका हदिया के पति द्वारा केरल हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ दायर की गई है, जिसमें उसकी शादी कैंसल कर दी गई थी. उस केस में अखिला नाम की 24 वर्ष की लड़की ने अपने परिवार के खिलाफ धर्म बदलकर शफीन जहान से शादी कर ली थी. अखिला ने पिता जो कि आर्मी से रिटायर हैं वह उस शादी के खिलाफ केरल हाईकोर्ट पहुंचे थे, हाईकोर्ट ने उनके पक्ष में फैसला सुनाकर अखिला को उनके साथ घर भेज दिया था.



loading...