ताज़ा खबर

चारधाम यात्रा: 6 महीने बाद खुले भगवान केदारनाथ के कपाट, मंदिर के बाहर लगी भक्तों की कतारें

पीएम मोदी ने केदारनाथ घाटी की गुफा में लगाई धुनी, रातभर करेंगे साधना

पीएम मोदी ने केदारनाथ मंदिर में की पूजा-अर्चना, 19 मई को जायेंगे बद्रीनाथ

सीताराम येचुरी के विवादित बयान के खिलाफ बाबा रामदेव ने दर्ज कराई पुलिस में शिकायत

लोकसभा चुनाव: देहरादून में पीएम मोदी ने कहा- कांग्रेस के शासन में भ्रष्‍टाचार एक्सिलेटर और विकास वेंटिलेटर पर रहता है

लोकसभा चुनाव: मेरठ के बाद रुद्रपुर में गरजे पीएम मोदी, कहा- विरोधी और दुश्मन सुन लें, हम डरने वाले नहीं डटने वाले हैं

देहरादून की रैली में बोले राहुल गांधी, 2019 में कांग्रेस की सरकार बनेगी, हर गरीब को न्यूनतम इनकम दी जाएगी

2019-05-09_KedarnathTemple.jpeg

6 महीने के लंबे समय के बाद गुरुवार को बाबा केदारनाथ ने अपने भक्तों के इंतजार को विराम दिया और उन्हें पहला दर्शन दिया. गुरुवार सुबह 5 बजकर 35 मिनट पर भगवान केदारनाथ के कपाट भक्तों के लिए खोल दिए गए. अब आने वाले छह महीनो तक भोले बाबा की पूजा यहीं पर होगी. इस दौरान प्रशानिक आधिकारियों के साथ देश-विदेश से आए कई श्रद्धालु इसके गवाह बनें.

जानकारी के मुताबिक, ब्राह्मवेला से पहले मंदिर समिति ने केदारनाथ मंदिर के कपाट खुलने की तैयारियां पूरी कर ली थी. बाबा केदार की उत्सव डोली को मुख्य पुजारी केदार लिंग द्वारा भोग लगाने के साथ ही नित पूजाएं की गई, जिसके बाद डोली को सजाया गया.

केदारनाथ रावल भीमाशंकर लिंग, वेदपाठियों, पुजारियों, हक्क हकूकधारियों की मौजूदगी में कपाट पर वैदिक परंपराओं के अनुसार मंत्रौच्चारण किया गया. इसके बाद ठीक 6 बजे मुख्य कपाट भक्तों के दर्शनाथ खोल दिए गए.

अब आने वाले छह महीने तक यहीं पर भक्त केदार बाबा के दर्शन कर सकेंगे. भारी बर्फबारी के बावजूद बड़ी संख्या में भक्त केदारनाथ आए. सेना की जम्मू-कश्मीर लाईट इंफेंटरी के बेंड की धुनों ने पूरा केदारनाथ का वातावरण भोले बाबा के जयकारो से गुंजायमान हो गया.



loading...