कठुआ गैंगरेप केस की पहली सुनवाई आज से शुरू, वकील ने कहा-उनका भी हो सकता है रेप और मर्डर

2018-04-16_kathua54.jpg

कठुआ में 8 वर्ष की मासूम के साथ दरिंदगी और फिर उसकी बर्बर हत्या के मामले में आज से जम्मू सेशंस कोर्ट में ट्रायल शुरू होने जा रहा है. सेशंस कोर्ट में केस के ट्रायल के लिए कुल 7 आरोपियों के नाम हैं जबकि एक आरोपी के नाबालिग होने के चलते उसका केस जुवेनाइल कोर्ट में चलेगा. केस लड़ रहीं वकील दीपिका सिंह राजवंत ने अपनी जान को खतरा बताया है. दीपिका का कहना है कि उनका भी रेप और मर्डर करवाया जा सकता है.दीपिका सिंह राजवंत ने कहा, आज मैं खुद नहीं जानती. मैं होश में नहीं हूं. मेरा रेप हो सकता है, मेरी हत्या हो सकती है. शायद मुझे कोर्ट में प्रैक्टिस न करने दी जाए. उन्होंने मुझे एकदम अलग कर दिया है. मैं नहीं जानती कि अब मैं यहां कैसे रहूंगी.’ उन्होंने बताया कि उन्हें हिंदू विरोधी कहते हुए सभी ने उनका बहिष्कार कर दिया है.

दीपिका ने कहा कि अपनी और परिवार की सुरक्षा के लिए वह सुप्रीम कोर्ट से सुरक्षा की मांग करेंगी. उन्होंने कहा, ‘मैं सुप्रीम कोर्ट जाउंगी. मैं बहुत बुरा महसूस कर रही हूं और यह निश्चित रूप से दुर्भाग्यपूर्ण है. उन्होंने कहा, ‘आप मेरी दुर्दशा की कल्पना कर सकते हैं लेकिन मैं न्याय के साथ खड़ी हूं और हम सब आठ साल की बच्ची के लिए न्याय चाहते हैं.

दूसरी तरफ इस मामले में भड़काऊ भाषण देने के आरोप में इस्तीफा देने वाले दोनों मंत्रियों लाल सिंह और चंद्र प्रकाश गंगा के इस्तीफे को सीएम महबूबा मुफ्ती ने कल मंजूर कर लिया.

जिसके बाद बीजेपी विधायक लाल सिंह आज जम्मू-से कठुआ तक एक रैली निकालने वाले हैं. इस्तीफे के बाद इसे शक्ति प्रदर्शन के तौर पर देखा जा रहा है. इस रैली के दौरान वो हिंदू मंच के लोगों से भी मिल सकते हैं. 

वहीं, मंत्रिमंडल से छुट्टी होने के बाद भाजपा विधायक चंद्र प्रकाश गंगा ने कठुआ मामले को अलगाववादियों की साजिश करार दिया और CBI जांच की मांग की. दूसरी तरफ पीडीपी विधायक शाह मोहम्मद तांत्री ने CBI जांच पर कहा कि अब इसका फैसला कोर्ट करेगा.
 



loading...