पाकिस्तान ने बयान को कोट किया तो राहुल गांधी ने दी सफाई, कहा- कश्मीर भारत का आंतरिक मुद्दा, हिंसा की जड़ पाक

2019-08-28_RahulGandhi.jpg

कश्‍मीर से अनुच्‍छेद 370 हटाए जाने के मुद्दे पर केंद्र सरकार की मुखालफत कर रहे कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने इस मसले पर अपनी असहमति को दरकिनार किया है. उन्‍होंने कहा है कि कश्मीर भारत का आंतरिक मुद्दा है. साथ ही उन्‍होंने इस मामले पर पाकिस्‍तान या किसी अन्‍य मुल्‍क के हस्‍तक्षेप के लिए कोई जगह नहीं बताई है. वहीं, आतंकवाद के समर्थक पाकिस्‍तान को भी उन्‍होंने लताड़ा है. राहुल गांधी ने ट्विटर के माध्‍यम से यह बात कही.

राहुल गांधी ने बुधवार सुबह ट्वीट कर कहा, 'मैं इस सरकार से असहमत हूं.. कई मुद्दों पर. लेकिन, मैं यह पूरी तरह स्पष्ट करना चाहता हूं कि कश्मीर भारत का आंतरिक मुद्दा है और इसमें हस्तक्षेप करने के लिए पाकिस्तान या किसी अन्य विदेशी देश के लिए कोई जगह नहीं है.

अगले ट्वीट में उन्‍होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर में हिंसा हुई है. वहां हिंसा है, क्योंकि यह पाकिस्तान द्वारा उकसाया गया और समर्थित है, जिसे दुनिया भर में आतंकवाद का प्रमुख समर्थक माना जाता है.

इस बीच, कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने एक बयान जारी कर कहा कि पाकिस्‍तान ने राहुल गांधी का नाम गलत तरीके से कोट किया है. उसने अपने झूठ को सही ठहराने के लिए ऐसा किया है. उन्‍होंने कहा, “दुनिया में किसी को भी संदेह नहीं है कि जम्मू, कश्मीर और लद्दाख भारत के अभिन्न अंग हैं और हमेशा बने रहेंगे. पाकिस्तान द्वारा किया गया कोई भी शैतानी कृत्‍य इस अपरिवर्तनीय सत्य को नहीं बदल पाएगी. पाकिस्तान को पीओके-गिलगित-बाल्टिस्तान में मानवाधिकारों के उल्लंघन को लेकर दुनिया को जवाब देना चाहिए.

राहुल गांधी ने कहा था, “कुछ दिन पहले मुझे राज्यपाल सत्‍यपाल मलिक ने जम्मू-कश्मीर का दौरा करने के लिए आमंत्रित किया था. मैंने निमंत्रण स्वीकार कर लिया. हम यह जानना चाहते थे कि लोगों की वहां क्‍या स्‍थिति है, लेकिन हमें हवाई अड्डे से परे जाने की अनुमति नहीं थी. हमारे साथ प्रेस वालों को गुमराह किया गया, पीटा गया. इससे स्पष्ट है कि जम्मू-कश्मीर में स्थिति सामान्य नहीं है.



loading...