ताज़ा खबर

उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने रखी करतारपुर साहिब कॉरिडोर की आधारशिला, सीएम अमरिंदर सिंह ने पाक को दी चेतावनी

1984 सिख दंगों में दोषी कांग्रेसी नेता सज्जन कुमार को उम्रकैद की सजा, पंजाब सरकार ने की फैसले की तारीफ

खतरे में कांग्रेस के नेता नवजोत सिंह सिद्धू की आवाज, डॉक्टरों ने दी आराम की नसीहत

बैकफूट पर नवजोत सिंह सिद्धू, कहा- गंदी राजनीति खेलनी मुझे नहीं आती, कैप्टन मेरे पिता समान खुद ही निपट लूंगा

आज उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू रखेंगे करतारपुर साहिब कॉरिडोर की आधारशिला, करीब आएंगे भारत-पाकिस्तान!

अमृतसर हमला: निरंकारी भवन पर हमला करने वाला दूसरा आतंकी गिरफ्तार, पुलिस ने भारी मात्रा में हथियार किए बरामद

पंजाब में हाई अलर्ट जारी, पठानकोट में सेना की वर्दी में दिखे 2 संदिग्ध आतंकी, सर्च ऑपरेशन जारी

2018-11-26_Vaikainaidu.jpg

देश के उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू ने आज करतारपुर कॉरिडोर की आधारशिला रखी. इसके साथ ही सिख श्रद्धालुओं का 70 साल लंबा इंतजार खत्म हो गया. सिख समुदाय के लिए करतार साहब काफी मायने रखता है. यह सिखों का पवित्र तीर्थ स्थल है, जहां गुरुनानक देव ने अपने जीवन के 18 साल बिताए.

शिलान्यास के लिए भव्य कार्यक्रम का आयोजन किया गया था. समारोह में उप राष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू के साथ पंजाब के गवर्नर वीपी सिंह बदनौर, सीएम कैप्टन अमिरंदर सिंह, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल, कैबिनेट मंत्री सुखिजंदर सिंह रंधावा, कैबिनेट विजय इंद्र सिंगला, सुखबीर सिंह बादल, पंजाब कांग्रेस प्रधान सुनील जाखड़ समेत अन्य कई राजनीतिक शख्सियतें उपस्थित रहे.

कार्यक्रम में बोलते हुए उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू ने कहा कि पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने जो बात कही है, उसे मैं साफ शब्दों में समझाना चाहूंगा. उपराष्ट्रपति ने कहा कि हम न तो आतंकवाद को बर्दाश्त करेंगे और न ही अपने लोगों को मरने देंगे. ये कोई तरीका नहीं कि अपने स्वार्थ के लिए आप दूसरों की जिंदगी बर्बाद करें. दूसरों की जान लें, खून खराबा करें. दोनों ओर से शांति बनी रहे, जरूरी है कि हम इस नेक काम में मिलकर सहयोग करें.

शिलान्यास कार्यक्रम में बोलते हुए मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पाकिस्तान को खुली चेतावनी दे डाली. कैप्टन ने कहा कि मैं पाकिस्तान के आर्मी चीफ कमर बाजवा से एक सवाल पूछना चाहता हूं. एक सैनिक होने के नाते वे जवाब दें कि कौन सी सेना दूसरे के जवानों को मारने और दूसरे देश में हिंसा फैलाने को कहती है.

कैप्टन ने कहा कि कौन सी सेना पठानकोट और अमृतसर में लोग भेजकर हमला करने को कहती है. मैं पाकिस्तान को चेतावनी देना चाहता हूं कि हम पंजाबी हैं और हम आपको अपने देश का माहौल खराब करने नहीं देंगे. अगर फिर भी ऐसा किया गया, तो मुंह तोड़ जवाब दिया जाएगा.



loading...