जींद उपचुनाव: जाटलैंड में 52 साल बाद खिला कमल, 12935 वोटों से जीते कृष्ण मिड्ढा, कांग्रेस के रणदीप सुरजेवाला की करारी हार

महाराष्ट्र और हरियाणा विधानसभा में 21 अक्टूबर को होंगे चुनाव, आज से दोनों राज्यों में आचार संहिता लागू

बबीता फोगाट ने हरियाणा पुलिस से दिया इस्तीफा, बीजेपी के टिकट पर लड़ सकती हैं विधानसभा चुनाव

हरियाणा विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस में बड़ा बदलाव, कुमारी सैलजा को बनाया गया प्रदेश अध्यक्ष

हरियाणा: असोटी-बल्लभगढ़ स्टेशन के पास तेलंगाना एक्सप्रेस में लगी आग, सभी यात्री सुरक्षित

कांग्रेस नेता कुलदीप बिश्‍नोई को बड़ा झटका, आयकर विभाग ने जब्त की 150 करोड़ की संपत्ति, गुरुग्राम में होटल सीज

आयकर विभाग की छापेमारी में कुलदीप बिश्नोई की 200 करोड़ विदेशी संपत्ति उजागर

2019-01-31_JindByPoll.jpg

जींद विधानसभा उपचुनाव के नतीजों में बीजेपी ने 12 हजार से ज्यादा वोटों से जीत दर्ज कर ली है. बीजेपी प्रत्याशी डॉ कृष्ण मिड्ढा ने 12935 वोटों से जीत दर्ज की है. कैथल से कांग्रेस के विधायक और पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला तीसरे स्थान पर रहे है. बीजेपी की जीत के बाद कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने कहा है कि मैं पार्टी द्वारा दी गई जिम्मेदारी को निभाने के लिए यहां आया था. दूसरे स्थान पर इनेलो से अलग हुए दुष्यंत चौटाला की पार्टी जननायक जनता पार्टी (JPP) के दिग्विजय चौटाला रहे हैं. 

बीजेपी के डॉ कृष्ण मिड्ढा ने जननायक जनता पार्टी के दिग्विजय चौटाला को 12935 वोटों से हराया. बीजेपी प्रत्याशी को कुल 50, 556 वोट मिले. वहीं जेपीपी प्रत्याशी को कुल 37631 वोट प्राप्त हुए. वहीं कांग्रेस के रणदीप सुरजेवाला को 22, 740 वोट मिले.

इससे पहले सातवें राउंड की गिनती के बाद कांग्रेस कार्यकर्ताओं के हंगामे के चलते मतगणना रोक दी थी. जींद में मुख्य मुकाबला इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो) से अलग हुई दुष्यंत चौटाला की पार्टी जननायक जनता पार्टी, बीजेपी, कांग्रेस और इनेलो के बीच था. यहां से जननायक जनता पार्टी से दुष्यंत चौटाला के भाई दिग्विजय चौटाला मैदान में थे, वहीं कांग्रेस से रणदीप सुरजेवाला, बीजेपी से डॉ कृष्ण मिढ्डा व इनेलो उमेद रेडू मैदान में थे. 

जींद में 28 जनवरी को उपचुनाव हुए. चुनाव के दौरान बूथों पर मतदाताओं का उत्‍साह देखते ही बना. बूथों पर लंबी कतारें लगीं रहीं. जींद में 1.7 लाख वोटर हैं जिनमें से अनुसूचित जाति (एससी) और पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) का लगभग 50 प्रतिशत हिस्सा है. जाटों का लगभग 25 प्रतिशत वोट है.



loading...