क्रू मेंबर्स ने की ऐसी गलती कि यात्रियों के नाक-कान से बहने लगा खून, फ्लाइट की करानी पड़ी मरजेंसी लैंडिंग

पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली की हालत स्थिर, उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने एम्स पहुंचकर डॉक्टरों से ली तबीयत की जानकारी

कश्मीर मुद्दे पर रूस ने किया भारत का समर्थन, कहा- संविधान के दायरे में हुआ फैसला

आर्टिकल 370: पाकिस्तान ने अब रोकी समझौता एक्‍सप्रेस की सेवा, भारत ने भेजा इंजन, वापस आई ट्रेन

आर्टिकल 370 हटाए जाने को लेकर आज शाम 8 बजे देश को संबोधित करेंगे पीएम मोदी

धारा 370 हटाने के खिलाफ दायर याचिका पर सुप्रीम कोर्ट का जल्द सुनवाई से इनकार

अजित डोभाल के कश्मीरियों से मिलने पर तिलमिलाए कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद, कहा- पैसे देकर आप किसी को भी साथ ले सकते हो

2018-09-20_JetAirwaysFlight.jpg

मुंबई से जयपुर जा रही जेट एयरवेज की फ्लाइट को बीच रास्ते से ही वापस मुंबई लौटना पड़ा. इस फ्लाइट में 166 यात्री सवार थे, इनमें से 30 यात्रियों के नाक और कान से खून बहने लगा. वहीं कुछ लोगों ने सिर दर्द की शिकायत की थी. यात्रियों की खराब होती सेहत को देख फ्लाइट को वापस लौटना पड़ा. दरअसल क्रू मेंबर की एक छोटी सी गलती की वजह से 166 यात्रियों की जान पर आफत बन आई. टेकऑफ के दौरान क्रू केबिन प्रेशर को बरकरार रखने वाला स्विच दबाना भूल गए, जिसकी वजह से 166 में से 30 यात्रियों की नाक और कान से खून बहने लगा, और कुछ को सिरदर्द की शिकायत हुई. इन यात्रियों का मुंबई एयरपोर्ट पर ही इलाज किया जा रहा है.

फ्लाइट 9 डब्ल्यू 697 पर क्रू केबिन प्रेशर को बरकरार रखने वाला स्विच दबाना भूल गया, जिसकी वजह के करीब 30 यात्रियों के कान और नाक से खून बहने लगे. बताया जा रहा है कि 30 यात्री अभी बीमार हैं, जिनका इलाज चल रहा है. ऑक्सीजन मास्क्स वहां मौजूद थे. कई यात्रियों ने सिरदर्द की शिकायत की.

जेट एयरवेज की उस उड़ान के क्रू मेंबर को ड्यूटी से हटा दिया गया है, जिसने ये गलती की थी. नागरिक उड्डयन के महानिदेशालय (DGCA) के अनुसार, एयरक्राफ्ट एक्सिडेंट इन्वेस्टिगेशन ब्यूरो (AAIB) ने तफ्तीश शुरू कर दी है. जेट एयरवेज के प्रवक्ता ने बताया कि यात्रियों को दूसरे विमान से भेजने की तैयारी चल रही है.



loading...