कभी कांपते थे गेंदबाज, अब बैसाखियों के मोहताज हैं सनथ जयसूर्या!

खेल मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ से मिले बजरंग पुनिया, कहा- सही जवाब नहीं मिला तो कोर्ट जाऊंगा

Asia Cup 2018: टीम इंडिया के लिए बुरी खबर, हार्दिक पांड्या के बाद यह 2 खिलाडी भी हुए टीम से बाहर, इन खिलाडियों को मिला मौका

Asia Cup 2018: पाक की करारी हार पर बोले सरफराज अहमद, हमने 2 स्पिनर के लिए की तैयारी, तीसरे ने खेल बिगाड़ दिया

Asia Cup 2018: टीम इंडिया के कप्तान रोहित शर्मा ने पाकिस्तान के खिलाफ लगाया ‘बुर्ज खलीफा’ से भी ऊँचा छक्का

Asia Cup 2018: टीम इंडिया में पाकिस्तान से लिया चैंपियन ट्राफी का बदला, अब तक की सबसे बड़ी जीत

Asia Cup 2018: शुरुआत में लड़खड़ाई पारी को फिर लगा झटका, पाकिस्तान का स्कोर 86/3

2018-01-05_jaya4.jpg

तूफानी बल्लेबाजी से गेंदबाजों में खौफ भरने वाले पूर्व श्रीलंकाई क्रिकेटर सनथ जयसूर्या आज बैसाखियों के सहारे खुद के पैरों पर चलने पर मजबूर हैं. वह बिना बैसाखी के एक कदम भी नहीं चल पाते हैं.

जानकारी रिपोर्ट्स के मुताबिक , जयसूर्या बैसाखियों के सहारे चलते हैं, वे घुटनों की समस्या से जूझ रहे हैं. उनके घुटनों का ऑपरेशन जल्द ही होगा.

क्रिकेट से संन्यास ले चुके जयसूर्या 2 बार श्रीलंका क्रिकेट की चयन समिति के चेयरमैन रहे. वहीं, 2017 में उन्होंने दक्षिण अफ्रीका और घर में भारत के हाथों श्रीलंका की हार के बाद पद से इस्तीफा दे दिया था.

कहा जा रहा है कि जयसूर्या का ऑस्ट्रेलिया में जल्द ऑपरेशन होने वाला है. वे इलाज के लिए मेलबर्न जाने वाले हैं.

बता दें कि 48 वर्षीय जयसूर्या 2011 में रिटायर होने से पहले श्रीलंकाई क्रिकेट टीम के मजबूत स्तंभ माने जाते थे. उनका खौफ गेंदबाजों में ऐसा था कि अच्छे-अच्छे गेंदबाजों की लाइन लेंथ बिगड़ जाती थी.

उनके रिकॉर्ड की बात की जाए तो उन्होंने 40 की औसत से 110 टेस्ट मैचों में 6973 रन बनाए और 50 ओवर के फॉर्मेट में 433 मैचों में 13000 हजार रन जड़े. वे श्रीलंका के लिए टी20 मैचों में भी खेल चुके हैं.



loading...