जम्मू-कश्मीर में कांग्रेस के साथ मिलकर सरकार बना सकती हैं महबूबा मुफ्ती, हलचल हुईं तेज

2018-07-02_PDPCongress.jpg

जम्मू-कश्मीर में एक बार फिर सियासी पारा चढ़ने लगा है. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक पीडीपी ने कांग्रेस के साथ मिलकर राज्य में सरकार बनाने की पहल की है. इसके लिए सोमवार को नई दिल्ली में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की अगुवाई में कांग्रेस पार्टी ने जम्मू कश्मीर के नेताओं संग सरकार बनाने के मुद्दे पर चर्चा की. 

बैठक के बाद कांग्रेस नेता अंबिका सोनी ने कहा कि हमारी मांग है कि राज्य में जल्द से जल्द चुनाव हो. उन्होंने कहा कि हमने आज की बैठक में करीब 100 नेताओं को बुलाला था. जिसमें सांसद, विधायक, पूर्व सांसद और पूर्व विधायक सहित अन्य नेता शामिल हुए. कांग्रेस की प्लानिंग ग्रुप की बैठक में पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह, अम्बिका सोनी, कर्ण सिंह, पी. चिदंबरम और गुलाम नबी आजाद शामिल हुए. आपको बता दें कि जम्मू कश्मीर की पूर्व सीएम महबूबा मुफ्ती भी आज दल्ली में ही हैं. माना जा रहा है कि आज उनकी मुलाकात यूपीए की चेयरपर्सन सोनिया गांधी से हो सकती है.
 
वहीं इसके अलावा मंगलवार को कांग्रेस विधायकों की श्रीनगर में बैठक भी होने वाली है, जिसमें राजनीतिक घटनाक्रम पर चर्चा होगी. आपको बता दें कि राज्य में सरकार बनाने के लिए 44 विधायकों की जरूरत है. पीडीपी के पास 28 विधायक हैं जबकि कांग्रेस के पास 12 विधायक हैं. हालांकि इसके बाद भी दोनों पार्टियों को राज्य में सरकार बनाने के लिए 4 विधायकों की दरकार होगी. कांग्रेस का मानना है कि 3 निर्दलीय विधायक और 1-1 सीपीआईएम-जेकेडीऍफ के विधायक है, जो सरकार बनाने के पक्ष में हैं. उन्हें भरोसा है कि ये विधायक सरकार बनाने में उनकी मदद करेंगे. 

आपको बता दें कि भारतीय जनता पार्टी ने जम्मू-कश्मीर में महबूबा सरकार से समर्थन वापस लेने का फैसला कर सबका चौंका दिया था. इसके बाद मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने भी अपने पद से इस्तीफा दे दिया था, जिसके बाद से अभी राज्य में राज्यपाल शासन लागू है.



loading...