महबूबा मुफ्ती ने पार्टी टूटने के डर से बीजेपी को दी धमकी, PDP को तोड़ने की कोशिश की तो कश्मीर में और सलाउद्दीन पैदा होंगे

पीएम मोदी ने अविश्वास प्रस्ताव से पहले सभी पार्टियों से की अपील, कहा- देश हमें देख रहा है

महिला कैदियों को मोदी सरकार ने दी माफी, बापू की जयंती पर रिहा होंगे 60 साल की उम्र से ज्यादा के कैदी

अविश्वास प्रस्ताव पर मोदी सरकार की पहली अग्निपरीक्षा, शुक्रवार को होगी चर्चा, लोकसभा में 15 साल बाद अविश्वास प्रस्ताव

मानसून सत्र: मॉब लिंचिंग और विशेष राज्य के मुद्दे पर लोकसभा में विपक्ष का जोरदार हंगामा

पीएम मोदी की अध्यक्षता में मानसून सत्र से पहले हुई सर्वदलीय बैठक समाप्त, PM ने कहा सदन चलाने में सहयोग करे विपक्ष

SC की फटकार के बाद जागी केंद्र सरकार, लोकपाल नियुक्ति को लेकर 19 जुलाई को पीएम मोदी करेंगे मीटिंग

2018-07-13_maheboobamufti.jpeg

भाजपा ने पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (PDP) के साथ मिलकर 3 साल तक जम्मू और कश्मीर में गठबंधन सरकार चलाई थी. इस दौरान महबूबा मुफ्ती को मुख्यमंत्री बनाया गया था. 19 जून को भाजपा ने पीडीपी से समर्थन वापस ले लिया था. तब से राज्य में राज्यपाल शासन लागू है. ऐसे में दोनों पार्टियों के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है. वहीं भाजपा पर पीडीपी के विधायकों को तोड़ने का भी आरोप लग रहे हैं.

पार्टी में पड़ रही फूट के बीच मुफ्ती ने इशारों-इशारों में भाजपा को कड़ी चेतावनी दे दी है. उनका कहना है कि अगर दिल्ली ने पीडीपी को तोड़ने की कोशिश की तो और सलाउद्दीन पैदा होंगे. उन्होंने कहा, यदि दिल्ली ने साल 1987 की तरह लोगों से उनके मतदान का अधिकार छीना, यदि उसने बंटवारे की कोशिश की और उस समय की तरह हस्तक्षेप करने की कोशिश की तो मुझे लगता है कि 1987 की तरह ही हिजबुल मुजाहिद्दीन के प्रमुख सैयद सलाउद्दीन और यासिन मल्लिक पैदा होंगे.

पूर्व मुख्यमंत्री ने आगे कहा, यदि इस बार पीडीपी को तोड़ने की कोशिश की गई और हक पर डाका डाला गया तो हालात पहले से ज्यादा खराब होंगे. आपको  बता दें कि हाल ही में पीडीपी के 6 विधायकों ने पार्टी से बगावत की है. सभी बगावती विधायकों का कहना है कि पीडीपी फैमिली डेमोक्रेटिक पार्टी बन गई है. बागी विधायकों में जावेद बेग, यासिर रेशी, अब्दुल मजीद, इमरान अंसारी, अबीद हुसैन अंसारी और मोहम्मद अब्बास वानी शामिल हैं.

मुफ्ती के बयान पर जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और जम्मू और कश्मीर नेशनल कांफ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट कर कहा है कि किसी पार्टी के टूटने से कोई नया आंतकी नहीं बनेगा. उन्होंने कहा, मैं आपको साफतौर पर यह याद दिलाना चाहता हूं कि पीडीपी के टूटने से कोई नया आतंकी नहीं बनेगा. लोग उस पार्टी के अंत पर शोक नहीं मनाएंगे जिसका निर्माण दिल्ली में कश्मीरियों के मतों को बांटने के लिए हुआ था.



loading...