ISRO प्रमुख के सिवन का बड़ा बयान, अंतरिक्ष में अपना खुद का स्पेस स्टेशन बनाएगा भारत

2019-06-13_KSivan.jpg

अंतरिक्ष के क्षेत्र में बड़ा कदम रखते हुए भारत अपना खुद का स्पेस स्टेशन लॉन्च करने की तैयारी कर रहा है. यह बात इसरो प्रमुख के सिवन ने गुरुवार को कही. यह महत्वाकांक्षी परियोजना गगनयान मिशन का विस्तार होगी. नई दिल्ली में मौजूद सिवन ने कहा कि हमें मानव अंतिरक्ष मिशन को लॉन्च करने के बाद गगनयान प्रोग्राम का विस्तार करना होगा. इसीलिए, भारत अपना स्पेस सेंटर लॉन्च करने की तैयारी कर रहा है.

वहीं केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने मीडिया से बातचीत में बताया है कि गगनयान राष्ट्रीय सलाहकार परिषद की निगरानी में भारत के आजादी की 75वीं वर्षगांठ के मौके पर इसरो अपने पहले मानव मिशन को अंतरिक्ष में भेजने का संकल्प लिया है. आपको बता दें कि साल 2022 में भारत की आजादी को 75 साल पूरे हो रहे हैं. जिसकी योजना और तैयारी की निगरानी के लिए विशेष सेल बनाई गई है.

इससे पहले 12 जून को बंगलूरू में इसरो प्रमुख ने कहा था कि चंद्रमा की सतह पर खनिजों के अध्ययन और प्रयोग करने के लिए भारत के दूसरे अभियान 'चंद्रयान-2' 15 जुलाई को रवाना होगा. उन्होंने बताया था कि यह यान छह या सात सितंबर को चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव के पास उतरेगा. चंद्रमा के इस हिस्से के बारे में वैज्ञानिकों के पास ज्यादा जानकारी नहीं है. 

आपको बता दें कि चंद्रयान-2 का प्रक्षेपण 15 जुलाई को रात 2:51 बजे श्रीहरिकोटा स्थित अंतरिक्ष केंद्र से होगा. इसे जीएसएलवी मार्क-3 रॉकेट अंतरिक्ष में ले जाएगा. इस अंतरिक्ष यान का द्रव्यमान 3.8 टन है. इसमें तीन मॉड्यूल आर्बिटर, लैंडर (विक्रम) और रोवर (प्रज्ञान) हैं.  



loading...