ISI ने इंग्लैंड में रह रहे आतंकियों से करवाए हिंदू नेताओं समेत 7 के मर्डर : कैप्टन अमरिंदर सिंह

2017-11-08_captanamrinder.jpg

हिंदू नेता ब्रिगेडियर गगनेजा के कत्ल समेत पंजाब में हुई 7 टारगेट किलिंग के पीछे पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI का हाथ है. इंग्लैंड से आतंकियों ने गैंगस्टर्स की मदद से शूटर्स के जरिए इन कत्ल को अंजाम दिया. ये खुलासा मंगलवार को खुद मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में किया. 

उन्होंने बताया कि इस मामले में 4 लोगों को अरेस्ट किया गया है. इनमें से एक नाभा जेल में बंद है. वहीं, पंजाब डीजीपी सुरेश अरोड़ा ने बताया कि इंग्लैंड से आए जिम्मी सिंह उर्फ जिम्मी जट्‌ट और उसके साथी जगतार सिंह जोहल उर्फ जग्गी ने लुधियाना के गैंगस्टर गुगनी मेहरबान से मिलकर ISI के इशारे पर सभी वारदात करवाई थीं.

इंग्लैंड से जिम्मी जट्‌ट ने जम्मू के रास्ते हथियार मुहैया करवाए और नाभा जेल में बंद गैंगस्टर गुगनी मेहरबान ने शूटर उपलब्ध कराए.

पहला मर्डर हिंदू नेता ब्रिगेडियर जगनेजा का हुआ. इसके बाद लुधियाना में हिंदू तख्त नेता अमित शर्मा, खन्ना में दुर्गा दास गुप्ता, RSS नेता रविंदर गोसाईं, पास्टर सुल्तान मसीह और डेरा प्रेमी बाप बेटा को निशाना बनाया. कत्ल में 32 बोर व 9 एमएम पिस्टल का इस्तेमाल किया गया.

कत्ल और हथियार मुहैया करवाने में शामिल सबसे पहले जिम्मी सिंह को पकड़ा गया. यह एक हफ्ते पहले यूके से आया था. जिम्मी जम्मू का रहने वाला है. इसे इन्दिरा गांधी एयरपोर्ट पर पकड़ा गया. पूछताछ के बाद जगतार जौहल उर्फ जग्गी को पकड़ा गया. यह भी UK का रहने वाला है. इस दौरान गैंगस्टर धर्मेंद्र सिंह गुगनी को अरेस्ट किया गया. जो नाभा जेल में बंद है. जेल से ही इसने हथियार सप्लाई करवाए.
 



loading...