IPL 2018: कोलकाता नाइटराइडर्स ने रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर को 4 विकेट से हराया

महेंद्र सिंह धोनी को आज भी BCCI मानता है भारतीय क्रिकेट टीम का कप्तान, यह रहा सबूत

कोच रवि शास्त्री ने खोला धोनी के सन्यास का राज, बताई यह खास वजह

इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज के लिए भारतीय टीम का ऐलान, ऋषभ पंत को पहली बार टेस्ट टीम में मिली जगह, रोहित शर्मा की छुट्टी

इंग्लैंड ने तीसरे वनडे मुकाबले में 8 विकेट से जीत दर्ज की, कोहली की कप्तानी में भारत पहली बार द्विपक्षीय वनडे सीरीज हारा

फीफा विश्व कप: फाइनल मुकाबले में क्रोएशिया हराकर दूसरी बार चैंपियन बना फ्रांस

नॉटिंघम वनडे में अनुष्का शर्मा ने विराट को जीत के बदले दी फ्लाइंग किस, सोशल मीडिया पर विडियो वायरल

2018-04-09_vivo-ipl-2018-kkr.JPG

सुनील नरेन (50) की तूफानी पारी के बाद अपने नए कप्तान दिनेश कार्तिक (नाबाद 35) की जिम्मेदारी भरी पारी के दम पर कोलकाता ने रविवार को ईडन गार्डन्स स्टेडियम में खेले गए इंडियन टी-20 लीग के 11वें संस्करण के मैच में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर को चार विकेट से हरा दिया. बेंगलोर ने कोलकाता के सामने 177 रनों का लक्ष्य रखा था जिसे इस पूर्व विजेता ने अपने घर में खेलते हुए 18.5 ओवरों में छह विकेट खोकर हासिल कर लिया. कोलकाता ने सुनील नरेन को क्रिस लिन के साथ पारी की शुरुआत करने के लिए भेजा था. उन्होंने सौंपी गई जिम्मेदारी को सही ठहराया और महज 19 गेंदों में चार चौके तथा पांच छक्कों की मदद से अर्धशतकीय पारी खेली. हालांकि लिन कुछ खास नहीं कर सके और पांच रन के निजी स्कोर पर क्रिस वोक्स का शिकार बने.

नरेन को उमेश यादव ने 69 के कुल स्कोर पर पवेलियन भेजा. उप-कप्तान रोबिन उथप्पा (13) को भी उमेश ने 83 के कुल स्कोर पर अपना शिकार बनाया. इसके बाद नितीश राणा ने 25 गेंदों में दो चौके और इतने की छक्के लगाकर 34 रनों की पारी खेल टीम को लक्ष्य के करीब पहुंचा दिया. राणा ऑफ स्पिनर वॉशिंगटन सुंदर की गेंद पर पगबाधा करार दे दिए गए. इसके बाद कार्तिक ने अंत में एक छोर संभाले रखा और टीम को जीत दिला कर ही पवेलियन लौटे. उन्होंने अपनी नाबाद पारी में 29 गेंदों का सामना किया और चार चौके लगाए. बैंगलोर की तरफ से क्रिस वॉक्स ने तीन विकेट लिए. उमेश को दो सफलताएं मिलीं जबकि सुंदर को एक विकेट मिला.

इससे पहले, कोलकाता ने टॉस जीतकर बैंगलोर को बल्लेबाजी के आमंत्रित किया. बैंगलोर ने सलामी बल्लेबाज ब्रेंडन मैक्कुलम (43), एबी डिविलियर्स (44) के बाद अंतिम ओवरों में मनदीप सिंह (37) की तेजतर्रार पारी के दम पर 20 ओवरों में सात विकेट के नुकसान पर 176 रन बनाए. मैक्कुलम और डिविलियर्स के जाने के बाद लग रहा था कि बैंगलोर की टीम बड़ा स्कोर नहीं कर पाएगी, लेकिन मनदीप ने 18 गेंदों पर चार चौके और दो छक्कों की मदद से 37 रन बनाते हुए टीम को चुनौतीपूर्ण स्कोर दिया.

मैक्कुलम ने अपनी पारी में 27 गेंदों का सामना किया और छह चौके तथा दो छक्के लगाए. वह 63 के कुल स्कोर पर नरेन की गेंद पर बोल्ड हो गए. उनके साथ पारी की शुरुआत करने आए क्विंटन डी कॉक चार रन ही बना सके और पीयूष चावला की गेंद पर 18 के कुल स्कोर पर विनय कुमार को कैच दे बैठे. मैक्कुलम के बाद डिविलियर्स ने कोलकाता के गेंदबाजों को चैन नहीं लेने दिया. दूसरे छोर पर खड़े कोहली ने समझदारी भरी पारी खेली और बार-बार स्ट्राइक डिविलियर्स को देते रहे। दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 64 रन जोड़े.

डिविलियर्स को राणा ने अपना शिकार बनाया. उन्होंने 23 गेंदें खेलीं और पांच शानदार छक्कों के अलावा एक चौका लगाया. डिविलियर्स के जाने के तुरंत बाद कोहली भी पवेलियन लौट लिए. 33 गेंदों में एक चौका और छक्के की मदद से 31 रन बनाने वाले कोहली को राणा ने बोल्ड किया. डिविलियर्स और कोहली 127 के कुल स्कोर पर आउट हुए. यहां लग रहा था कि बैंगलोर की टीम बड़े स्कोर से महरूम रह जाएगी, लेकिन मनदीप ने ऐसा नहीं होने दिया. वह आखिरी ओवर की पांचवीं गेंद पर आउट हुए. कोलकाता के लिए नितीश राणा ने दो विकेट लिए. पीयूष चावला, सुनिल नरेन, मिशेल जॉनसन को एक-एक सफलता मिली.



loading...