IND vs ENG: आज से एडबस्टन में खेला जाएगा पहला टेस्ट, जानें कब, कैसे और कहाँ देखें मैच

2018-08-01_ViratandRoot.jpg

भारत-इंग्लैंड के बीच पांच टेस्ट की सीरीज का पहला मैच आज बुधवार से एडबस्टन में खेला जाएगा. नजर विराट कोहली की कप्तानी और बल्लेबाजी पर रहेगी. आंकड़े बताते हैं कि वे इंग्लैंड टीम के अपने समकक्ष जो रूट से ज्यादा कामयाब कप्तान हैं. विराट ने अब तक 35 टेस्ट में कप्तानी की है. इनमें से भारत ने 21 जीते, नौ ड्रॉ खेले. रूट ने 16 मैच में कप्तानी की. इनमें से छह जीते, आठ में हार मिली. लेकिन भारत के खिलाफ टेस्ट नतीजों के मामले में इंग्लैंड का पलड़ा भारी है. इंग्लैंड और भारत ने एक-दूसरे के खिलाफ 117 टेस्ट खेले. इनमें से इंग्लैंड ने 43 और भारत ने 25 जीते.

भारत ने इंग्लैंड में 57 मैच खेले, जिनमें सिर्फ छह जीते. टीम इंडिया ने इंग्लैंड में अब तक सिर्फ तीन टेस्ट सीरीज (1971, 1986, 2007 में) ही जीती हैं. इंग्लैंड में आखिरी बार राहुल द्रविड़ की अगुआई में टेस्ट सीरीज जीती थी. महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में टीम इंडिया 2011 में 4-0 और 2014 में 3-1 से सीरीज हार गई थी. पिछले पांच साल की बात करें तो भारत ने एशिया के बाहर 6 सीरीज खेलीं. इनमें से वह सिर्फ एक (वेस्टइंडीज के खिलाफ) जीत सका.

टेस्ट में इंग्लैंड की पिछली फॉर्म भी उसके लिए चिंता की वजह है. इंग्लैंड ने सितंबर 2017 से ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड और पाकिस्तान के खिलाफ नौ में से एक ही टेस्ट जीता है. घरेलू मैदान पर खेले पिछले पांच टेस्ट में उसे वेस्टइंडीज और पाकिस्तान ने हराया. वहीं, भारतीय टीम के लिए इस बार इंग्लैंड का मौसम बड़ी भूमिका निभा सकता है. इन दिनों वहां काफी गर्मी पड़ रही है. इस कारण वहां की पिच भारतीय उपमहाद्वीप की तरह सूखी और स्पिनर्स के लिए मददगार साबित हो सकती हैं. हालांकि, बर्मिंघम में बारिश कम होने से आउट फील्ड और पिच के ड्राई होने की आशंका है. इससे निबटने के लिए पिछले कुछ दिनों से ग्राउंड पर सामान्य से करीब चार से पांच गुना ज्यादा पानी डाला जा रहा है. सोमवार को 36 मिनट के अंदर आउट फील्ड पर 47 हजार लीटर पानी डाला गया. इंग्लैंड ने भी स्पिनर्स की भूमिका को देखते हुए आदिल रशीद को टीम में शामिल किया है.

एजबेस्टन में 2011 में भारत के खिलाफ टेस्ट में दोहरा शतक लगाने वाले इंग्लैंड के एलेस्टर कुक का कहना है कि टीम इंडिया के मौजूदा गेंदबाजों के पास काफी विविधता है. उन्होंने कहा, ऐसा लग रहा है कि उनके पास अच्छे गेंदबाज हैं, खासकर तेज गेंदबाज. यह बिल्कुल ही असामान्य हैं. उन जैसी तेज गेंदबाजी की क्षमता और गहराई मैंने पहले नहीं देखी. पिछले 10 साल में भारतीय गेंदबाजों के खेल में काफी बदलाव आया है.

संभावित टीमें-

भारत : विराट कोहली (कप्तान), शिखर धवन, मुरली विजय, केएल राहुल, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे, दिनेश कार्तिक, रिषभ पंत, करुण नायर, हार्दिक पंड्या, रविचंद्रन अश्विन, रविंद्र जडेजा, कुलदीप यादव, इशांत शर्मा, उमेश यादव, शार्दुल ठाकुर, मोहम्मद शमी, जसप्रीत बुमराह। 

इंग्लैंड : जो रूट (कप्तान), एलेस्टर कुक, किटोन जेनिंग्स, जॉनी बेयर्स्टो, जोस बटलर, बेन स्टोक्स, डेविड मलान, मोइन अली, आदिल रशीद, जैमी पोर्टर, सैम कुरेन, जेम्स एंडरसन, स्टुअर्ट ब्रॉड
 



loading...