ताज़ा खबर

SC में पहली बार कोई महिला वकील से सीधे जज बनेगी, कोलेजियम ने इंदू मल्होत्रा को किया अप्वाइंट

नौकरी के नाम पर UP के युवाओं से घाटी में पत्थरबाजी के लिए बनाया दबाव, जान बचाकर लौटे युवक

अंतरराष्ट्रीय योग दिवसः पीएम मोदी ने देहरादून में 55 हजार लोगों के साथ किया योगासन, बोले- योग की वजह से भारत से जुड़ी दुनिया

भारत के दो टूक जवाब के बाद त्रिपक्षीय वार्ता पर चीन के बदले सुर, राजदूत के बयान को निजी बताया

मुख्य आर्थिक सलाहकार पद से अरविंद सुब्रमण्यम ने दिया इस्तीफा, कहा- ये सबसे अच्छा जॉब था

केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल बोले- रोहित वेमुला की मां का बयान पढ़ने के बाद बेहद चिंतित हूं, कांग्रेस को किया बेनकाब, राहुल मांगे माफी

पीएम मोदी ने नमो ऐप पर किसानों को संबोधित किया, कहा- 2022 तक दोगुनी आय करना हमारी सरकार का लक्ष्य

2018-01-12_indu5.jpeg

सुप्रीम कोर्ट में कोलेजियम ने सीनियर एडवोकेट इंदू मल्होत्रा को जज के तौर पर अप्वाइंट किया है. वह वकील से सीधे जज बनने वाली पहली महिला होंगी. आजादी के बाद वे SC की 7वीं महिला जज बनेंगी. फिलहाल, सुप्रीम कोर्ट में जस्टिस आर. भानुमती इकलौती महिला जज हैं. सीजेआई जस्टिस दीपक मिश्रा और 4 सीनियर जजों के कोलेजियम ने जज के लिए उत्तराखंड हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस केएम जोसेफ के नाम की सिफारिश की है.

जानकारी के मुताबिक , इंदू मल्होत्रा 2007 में सुप्रीम कोर्ट की सीनियर वकील बनी थीं. वह वकील से सीधे SC की जज बनने वाली पहली महिला होंगी. उन्हें अब तक हाईकोर्ट में कोई नियुक्ति नहीं मिली. वह आजादी के बाद सुप्रीम कोर्ट की 7वीं महिला जज बनेंगी. फिलहाल, जस्टिस आर. भानुमती SC में इकलौती महिला जज हैं.

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के 67 साल के इतिहास में यह दूसरा मौका है जब 2 महिला जज एक साथ कोर्ट में मौजूद होंगी. इससे पहले 2011 से 2014 के बीच जस्टिस ज्ञान सुधा मिश्रा और जस्टिस रंजना प्रकाश देसाई एक साथ काम कर चुकी हैं.
 



loading...