SC में पहली बार कोई महिला वकील से सीधे जज बनेगी, कोलेजियम ने इंदू मल्होत्रा को किया अप्वाइंट

संसद के शीतकालीन सत्र से पहले सरकार ने सोमवार को बुलाई सर्वदलीय बैठक

सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर सेवानिवृत्त लेफ्टिनेंट जनरल डी एस हुड्डा ने कहा- इसको बढ़ा-चढ़ाकर कर पेश किया

Exit Poll: बीजेपी को लग सकता है बड़ा झटका, देखें क्या कहता है एग्जिट पोल

सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा और सहयोगियों के दिल्ली और बेंगलुरु ठिकानों पर ED की कार्यवाई

सुप्रीमकोर्ट से भगोड़े विजय माल्या को बड़ा झटका, ED की कार्यवाई पर रोक लगाने की याचिका की खारिज

Isha Ambani Wedding: उदयपुर में दिखेगा राजस्थानी रंग, हॉलीवुड-बॉलीवुड, राजनीति और क्रिकेट से जुड़ी करीब 1800 हस्तियां होंगी पार्टी में शामिल

2018-01-12_indu5.jpeg

सुप्रीम कोर्ट में कोलेजियम ने सीनियर एडवोकेट इंदू मल्होत्रा को जज के तौर पर अप्वाइंट किया है. वह वकील से सीधे जज बनने वाली पहली महिला होंगी. आजादी के बाद वे SC की 7वीं महिला जज बनेंगी. फिलहाल, सुप्रीम कोर्ट में जस्टिस आर. भानुमती इकलौती महिला जज हैं. सीजेआई जस्टिस दीपक मिश्रा और 4 सीनियर जजों के कोलेजियम ने जज के लिए उत्तराखंड हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस केएम जोसेफ के नाम की सिफारिश की है.

जानकारी के मुताबिक , इंदू मल्होत्रा 2007 में सुप्रीम कोर्ट की सीनियर वकील बनी थीं. वह वकील से सीधे SC की जज बनने वाली पहली महिला होंगी. उन्हें अब तक हाईकोर्ट में कोई नियुक्ति नहीं मिली. वह आजादी के बाद सुप्रीम कोर्ट की 7वीं महिला जज बनेंगी. फिलहाल, जस्टिस आर. भानुमती SC में इकलौती महिला जज हैं.

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के 67 साल के इतिहास में यह दूसरा मौका है जब 2 महिला जज एक साथ कोर्ट में मौजूद होंगी. इससे पहले 2011 से 2014 के बीच जस्टिस ज्ञान सुधा मिश्रा और जस्टिस रंजना प्रकाश देसाई एक साथ काम कर चुकी हैं.
 



loading...