ताज़ा खबर

तमिलनाडु में चक्रवाती तूफान 'गाजा' ने दी दस्तक, 370 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चल रही हवाएं, कई क्षेत्रों में भारी बारिश

2018-11-15_GajaStrom.jpg

चक्रवात गाजा आज तमिलनाडु और पुडुचेरी से टकराएगा, जिसके चलते तटीय इलाकों में हालात बिगड़ सकते है. भारतीय नौसेना को राहत और बचाव कार्य के लिए अलर्ट पर रखा गया है. नौसेना के एक अधिकारी ने बताया, 'दो भारतीय नौसैनिक जहाज रणवीर और खंजर मानवीय सहायता और संकट राहत के लिए सबसे अधिक प्रभावित क्षेत्रों में आगे बढ़ने के लिए खड़े हैं.' गुरूवार को तंजौर, तिरुवरुर, पुडुकोट्टई, नागपट्टिनम, कुड्डलूर और रामनाथपुरम में स्कूलों और कॉलेज बंद की घोषणा की गई.

चक्रवात के मद्देजर पुडुचेरी और कराईकल में शिक्षण संसथान बंद ही रहेंगे. इस दौरान 100 किमी प्रति घंटे तक की हवाएं चल सकती है. तमिलनाडु सरकार 30500 बचाव राहत कर्मियों को तैनात करने की घोषणा कर चुकी है. मौसम विभाग का कहना है कि चक्रवात गाजा के कमजोर होने से पहले बुधवार की सुबह से तमिलनाडु-दक्षिण आंध्र प्रदेश के तटीय इलाकों में हालात बिगड़ सकते हैं और रात में समुद्र में ऊंची लहरे उठने की उम्मीद है.

मछली पकड़ने गए मछुआरों को जल्द लौटने की सलाह दी गई है. 13-15 नवंबर के दौरान उत्तर तमिलनाडु व पुडुचेरी व इससे लगे दक्षिण आंध्र प्रदेश तट के इलाकों में मछली पकड़ने के लिए नहीं जाने की सलाह दी गई है.

अक्टूबर के महीने में ओडिशा में तितली तूफ़ान ने भयंकर तबाही मचाई थी. राज्य में जान-माल का भारी नुकसान हुआ था.. तूफ़ान के कारण हुई मूसलाधार बारिश के कारण आई बाढ़ ने राज्य में जनजीवन को अस्त व्यस्त कर दिया था. 'तितली' के कारण ओडिशा में 57 लोगों की मौत हो गई और 57,131 घर तबाह हो गए. तितली के कारण करीब 2200 करोड़ के नुकसान का आकलन किया गया.



loading...