जम्मू-कश्मीर में आतंकियों के सफाए के लिए सेना के जवानों को मिलेंगी एके-203 राइफल

UN में सैयद अकबरुद्दीन बोले- पाकिस्तान जितनी बुराई करेगा, भारत का कद उतना ही ऊँचा होगा

घाटी के हालात को लेकर गृह मंत्री अमित शाह की मौजूदगी में गृह मंत्रालय में हाई लेवल मीटिंग जारी, कई अधिकारी मौजूद

केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा, सरकार का अगला लक्ष्य PoK को वापस लेना है

राज्‍यसभा में गृहमंत्री अमित शाह ने जम्मू-कश्मीर आरक्षण विधेयक और राष्‍ट्रपति शासन बढ़ाने का प्रस्ताव किया पेश, विपक्ष ने किया विरोध

केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा- धारा 370 कांग्रेस की देन, पूर्व पीएम नेहरु को ठहराया जिम्मेदार

कठुआ रेप केस में 3 आरोपियों को उम्रकैद की सजा, 3 को 5-5 साल की सजा

2019-04-08_AK203Rifle.jpg

जम्मू कश्मीर में आतंकियों के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान में जुटे सेना के जवानों को अब एके-203 राइफल के मॉर्डन वर्जन से लैस किया जाएगा. इन एके-203 राइफलों को यूपी के अमेठी में ऑर्डिनेंस फैक्ट्री बोर्ड और रूस के साझा प्रयास के तहत निर्मित किया जाएगा. फास्ट ट्रैक प्रोसेस के तहत इन 93000 कारबाइन के लिए अलग से निविदा जारी की जाएगी.

समाचार एजेंसी एनएनआई ने सेना के उच्च सूत्रों के हवाले से जानकारी दी है कि, 'हम अपने जवानों को अब एके 203 राइफलों से लैस करने जा रहे है. अब हम आतंकवाद रोधी अभियानों के दौरान इस राइफल की बट को आसानी से हटा सकते हैं जिससे इसे कपड़ों के बीच में छिपा सकते हैं. सेना में इस राइफल के इस्तेमाल के लिए इसमें कई और बदलाव किए जाएंगे.'

आपको बता दें कि सेना और सुरक्षाबलों के आधिकारिक सूत्रों ने बताया था कि ‘एके-203 राइफल’ उस इंसास राइफल की जगह लेगी, जिसका इस्तेमाल थल सेना और अन्य बल कर रहे हैं. इस इकाई में 7,00,000 एके-203 राइफलें तैयार करने का शुरुआती लक्ष्य है. एके-203 राइफल एके-47 राइफलों का सबसे मॉडर्न वर्जन है. नई असॉल्ट राइफल भी एके-47 की तरह ऑटोमैटिक और सेमी ऑटोमैटिक दोनों सिस्टमों से लैस होगी.

आपको बता दें कि कुछ दिन पहले ही प्रधानमंत्री मोदी ने एके-203 असॉल्ट राइफल के लिए अमेठी में एक विनिर्माण इकाई की आधारशिला रखी थी. इस दौरान रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने रूसी राष्ट्रपति का संदेश भी पढ़ा था. रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने अपने एक संदेश में कहा है कि ‘क्लाशनिकोव असॉल्ट राइफल-203’ तैयार करने वाला भारत और रूस का नया संयुक्त उद्यम छोटे हथियारों की भारतीय सुरक्षा एजेंसियों की जरूरत को पूरा करेगा. 

पुतिन ने अपने संदेश में कहा, ‘‘नया संयुक्त उद्यम नवीनत सीरिज की विश्व प्रसिद्ध क्लाशनिकोव असॉल्ट राइफलें तैयार करेगा.’’ उन्होंने कहा, ‘‘इस तरह, भारतीय रक्षा उद्योग क्षेत्र के पास राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसियों की इस श्रेणी के छोटे हथियारों की जरूरत पूरी करने का अवसर होगा जो अत्याधुनिक रूसी प्रौद्योगिकी पर आधारित होगा.’’



loading...