INDvsWI: अटल बिहारी वाजपेयी स्टेडियम में खेला जाएगा दूसरा T-20 मैच, जीत की लय बरकरार रखने उतरेगी टीम इंडिया

2018-11-06_IndiavsWestindies.jpg

भारत-वेस्टइंडीज के बीच 3 टी-20 मैचों की सीरीज का दूसरा मुकाबला आज लखनऊ के अटल बिहारी वाजपेयी स्टेडियम में खेला जाएगा. इस स्टेडियम का नाम पहले इकाना था, लेकिन उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने मैच से 24 घंटे पहले इसे पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को समर्पित कर दिया. यह लखनऊ का तीसरा स्टेडियम है, लेकिन इस मैदान पर पहली बार कोई अंतरराष्ट्रीय मैच खेला जाएगा. भारतीय टीम सीरीज में 1-0 से आगे है. भारत ने कोलकाता में खेले गए पहले मैच में विंडीज को पांच विकेट से हराया था.

पिछली बार लखनऊ में 1994 में भारत-श्रीलंका के बीच टेस्ट केडी सिंह बाबू स्टेडियम में खेला गया था. अटल स्टेडियम भारत का 51वां अंतरराष्ट्रीय स्टेडियम होगा. वहीं, टी-20 आयोजित करने वाला यह 21वां स्टेडियम बनेगा. काली मिट्टी से बनाए गए छह नम्बर की पिच पर भारत-विंडीज मुकाबला खेला जाएगा. पिच क्यूरेटर के अनुसार, गेंद धीमी गति से बल्ले पर आएगी, जिससे मुकाबला लो स्कोरिंग हो सकता है.

विंडीज के खिलाफ पहले मैच में तीन विकेट लेने वाले चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव का अपने राज्य में यह पहला अंतरराष्ट्रीय मैच होगा. उन पर घरेलू दर्शकों की उम्मीदों का भी दबाव होगा. पिच को लेकर लगाए जा रहे कयास से कुलदीप को खुशी मिली होगी. गेंद जितनी धीमी बल्ले पर जाएगी, कुलदीप को उतना ही फायदा होगा. वे आमतौर पर गेंद को धीमी गति से ही डालते हैं.

नियमित कप्तान विराट कोहली और विकेटकीपर महेन्द्र सिंह धोनी की गैरमौजूदगी में भी टीम इंडिया ने कोलकाता में बेहतर प्रदर्शन किया. डेब्यू करने वाले खलील अहमद ने 16 रन पर एक विकेट और ऑलराउंडर क्रुणाल पांड्या ने एक विकेट लेने के साथ-साथ केवल नौ गेंदों में 21 रन बनाए थे. कप्तान रोहित शर्मा दोनों से इस मुकाबले में भी बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद कर रहे होंगे.

वनडे सीरीज के पांच मैच में केवल 112 रन बनाने वाले शिखर धवन का प्रदर्शन पहले टी-20 में भी खास नहीं रहा. वे आठ गेंद में तीन रन बनाकर बोल्ड हो गए थे. आज के मैच में अगर उन्हें मौका मिलता है तो वे अपने नेचुरल खेल का प्रदर्शन करना चाहेंगे. इससे उनकी खोई हुई फार्म भी वापस आएगी और टीम में स्थान भी पक्का रहेगा.

दूसरी ओर, विंडीज को इस समय ऑलराउंडर आंद्रे रसेल की कमी खल रही है. छोटे फार्मेट में गेंद और बल्ले से विपक्षी टीम को दवाब में लाने वाले रसेल घुटने की चोट के चलते नहीं खेल रहे हैं. ऐसे में उनके बिना भी वेस्टइंडीज वापसी की कोशिश करेगा. कप्तान कार्लोस ब्राथवैट को बल्लेबाजी में शाई होप और शिमरॉन हेटमेयर से अधिक उम्मीदें होंगी. दोनों ने वनडे सीरीज में शतक लगाए थे. वहीं, अनुभवी कीरोन पोलार्ड से टीम मैनेजमेंट बेहतर प्रदर्शन चाहेगा.

टीमें:

भारत: रोहित शर्मा (कप्तान), शिखर धवन, लोकेश राहुल, मनीष पांडेय, दिनेश कार्तिक (विकेटकीपर), ऋषभ पंत, कुलदीप यादव, युजवेंद्र चहल, क्रुणाल पंड्या, उमेश यादव, जसप्रीत बुमराह और खलील अहमद

वेस्टइंडीज: कार्लोस ब्रैथवेट (कप्तान), फैबियन एलन, डेरेन ब्रावो, शिमरॉन हेटमेयर, ओबेड मैकॉय, एश्ले नर्स, कीमो पॉल, खैरी पिएरे, कीरोन पोलार्ड, रोवमन पॉवेल, दिनेश रामदीन (विकेटकीपर), शेरफेन रदरफोर्ड, ओशाने थॉमस



loading...