भारत ने मैन पोर्टेबल एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल का किया सफलतापूर्वक परीक्षण

Lok Sabha Eleciton 2019: भाजपा ने जारी की 11 उम्मीदवारों की एक और लिस्ट, कैराना से हुकुम सिंह की बेटी का टिकट कटा

सैम पित्रोदा के विवादित बयान पर अमित शाह ने कहा- जनता और जवानों से माफी मांगे राहुल गांधी

भारत के पहले लोकपाल बने जस्टिस पिनाकी चंद्र घोष को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दिलाई शपथ

इमरान खान का ट्वीट, पाकिस्तान के नेशनल डे पर पीएम मोदी ने भेजा संदेश, भारत का जवाब, ये परंपरा का हिस्सा

पीएम नरेंद्र मोदी ने ब्लॉग लिखकर शहीदों और राम मनोहर लोहिया को किया याद, कांग्रेस पर बोला हमला

आतंकी हाफिज सईद के संगठन के खिलाफ NIA ने दाखिल की चार्जशीट, भारत में करते थे स्लीपर सेल की भर्ती

2019-03-14_ATGM.jpg

युद्ध में टैंक को नष्ट करने के लिए डीआरडीओ द्वारा विकसित मैन पोर्टेबल एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल का भारत ने राजस्थान के पोकऱण रेंज में बुधवार रात को सफल परीक्षण किया. इससे भारतीय थल सेना की क्षमता में अभूतपूर्व वृद्धि होगी.

इससे युद्ध काल में दुश्मनों के टैंक को युद्ध के मैदान में आसानी से नष्ट किया जा सकता है. भारतीय सेना ऐसे मिसाइल की मांग बहुत समय से कर रही थी. डीआरडीओ ने राजस्थान के रेगिस्तान में कल रात 2-3 किलोमीटर स्ट्राइक रेंज के साथ इस मिसाइल का परीक्षण किया.

एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल को एटीजीएम के नाम से जाना जाता है. जो आर्मड टैंक को नष्ट करने में सक्षम होता है. यह मुख्यत तीन प्रकार की होती हैं. पहली मैन पोर्टेबल यानि इसे कंधे पर आसानी से कहीं भी ले जाया जा सकता है, दूसरी टैंक में माउंट मिसाइल और तीसरी हेलिकॉप्टर या लड़ाकू जहाज में माउंट मिसाइल.

एटीजीएम मिसाइल अन्य गाइडेड मिसाइल के पैटर्न पर ही काम करती हैं. इसके लिए मिसाइल में किसी निश्चित टॉरगेट के सही कोर्डिनेट पहले फिट किए जाते हैं. फिर उसे फायर किया जाता है. इसमें लक्ष्य भेदन की सटीकता बहुत ज्यादा होती है.

भारत अपनी खुद की मिसाइल के विकास होने तक फ्रांस से 5000 एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल को खरीद रहा है. इसके लिए रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण की अध्यक्षता में हुई रक्षा खरीद समिति की बैठक में मंजूरी भी दी जा चुकी है. मिलान एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल से भारत की रक्षा क्षमता में वृद्धि होगी.

इजराइल की एटीजीएम मिसाइल स्पाइक का सौदा रद्द होने के बाद भारत ने फ्रांस की मिलान को खरीदा है. इसके अलावा भारत अपनी खुद की मिसाइल को भी विकसित करने में लगा हुआ है. जिसका ताजा परीक्षण बुधवार को राजस्थान में किया गया है.



loading...