भारत ने मैन पोर्टेबल एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल का किया सफलतापूर्वक परीक्षण

वाइस एडमिरल बिमल वर्मा की याचिका को रक्षा मंत्रालय ने किया खारिज, जानें क्या है मामला

कमल हासन ने ‘हिंदू’ शब्द को लेकर दिया विवादित बयान

सरकार के लिए विपक्ष की मोर्चेबंदी, राहुल गांधी से मिले नायडू, शाम को लखनऊ में अखिलेश-मायावती से करेंगे मुलाकात

लोकसभा चुनाव: PM मोदी और अमित शाह को मिली क्लीनचिट से नाराज चुनाव आयुक्त अशोक लवासा ने EC की मीटिंग से किया किनारा

PM मोदी की 5 साल में पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस, कहा- फिर बनेगी पूर्ण बहुमत वाली NDA की सरकार

साध्‍वी प्रज्ञा के नाथूराम गोडसे वाले बयान पर पीएम मोदी ने कहा- दिल से कभी माफ नहीं कर पाऊंगा, अनिल सौमित्र को पार्टी से निलंबित किया

2019-03-14_ATGM.jpg

युद्ध में टैंक को नष्ट करने के लिए डीआरडीओ द्वारा विकसित मैन पोर्टेबल एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल का भारत ने राजस्थान के पोकऱण रेंज में बुधवार रात को सफल परीक्षण किया. इससे भारतीय थल सेना की क्षमता में अभूतपूर्व वृद्धि होगी.

इससे युद्ध काल में दुश्मनों के टैंक को युद्ध के मैदान में आसानी से नष्ट किया जा सकता है. भारतीय सेना ऐसे मिसाइल की मांग बहुत समय से कर रही थी. डीआरडीओ ने राजस्थान के रेगिस्तान में कल रात 2-3 किलोमीटर स्ट्राइक रेंज के साथ इस मिसाइल का परीक्षण किया.

एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल को एटीजीएम के नाम से जाना जाता है. जो आर्मड टैंक को नष्ट करने में सक्षम होता है. यह मुख्यत तीन प्रकार की होती हैं. पहली मैन पोर्टेबल यानि इसे कंधे पर आसानी से कहीं भी ले जाया जा सकता है, दूसरी टैंक में माउंट मिसाइल और तीसरी हेलिकॉप्टर या लड़ाकू जहाज में माउंट मिसाइल.

एटीजीएम मिसाइल अन्य गाइडेड मिसाइल के पैटर्न पर ही काम करती हैं. इसके लिए मिसाइल में किसी निश्चित टॉरगेट के सही कोर्डिनेट पहले फिट किए जाते हैं. फिर उसे फायर किया जाता है. इसमें लक्ष्य भेदन की सटीकता बहुत ज्यादा होती है.

भारत अपनी खुद की मिसाइल के विकास होने तक फ्रांस से 5000 एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल को खरीद रहा है. इसके लिए रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण की अध्यक्षता में हुई रक्षा खरीद समिति की बैठक में मंजूरी भी दी जा चुकी है. मिलान एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल से भारत की रक्षा क्षमता में वृद्धि होगी.

इजराइल की एटीजीएम मिसाइल स्पाइक का सौदा रद्द होने के बाद भारत ने फ्रांस की मिलान को खरीदा है. इसके अलावा भारत अपनी खुद की मिसाइल को भी विकसित करने में लगा हुआ है. जिसका ताजा परीक्षण बुधवार को राजस्थान में किया गया है.



loading...