भारत मजबूत अर्थव्यवस्था की सूची में 2 पायदान फिसला, ब्रिटेन-फ्रांस आगे निकले

2019-08-02_IndiaEconomy.jpg

भारत से दुनिया की पांचवीं बड़ी अर्थव्यवस्था का ताज छिन गया है. साल 2018 में अर्थव्यवस्था सुस्त रहने की वजह से विश्व बैंक के आंकड़ों के मुताबिक भारत अब सातवें पायदान पर पहुंच गया है.

ब्रिटेन और फ्रांस की अर्थव्यवस्था में साल 2018 में भारत के मुकाबले ज्यादा ग्रोथ दर्ज की गई है. इसके चलते ब्रिटेन और फ्रांस ने एक-एक पायदान की छलांग लगाई है. इसलिए भारत पांचवें स्थान से खिसक कर सातवें पायदान पर आया है. भारत के सातवें स्थान पर पिछड़ने के पीछे डॉलर के मुकाबले रुपये का कमजोर होना सबसे बड़ी वजह है. 

विश्व बैंक के आंकड़ों के मुताबिक साल 2018 में भारत की अर्थव्यवस्था महज 3.01 फीसदी बढ़ी है. वहीं साल 2017 में अर्थव्यवस्था में 15.23 फीसदी का इजाफा देखा गया था. साल 2018 में ब्रिटेन की अर्थव्यवस्था 6.81 फीसदी बढ़ी, जबकि साल 2017 में इसमें महज 0.75 फीसदी का उछाल आया था. 

फ्रांस की बात करें तो साल 2018 में फ्रांस की अर्थव्यवस्था 7.33 फीसदी बढ़ी है, जो कि साल 2017 में सिर्फ 4.85 फीसदी बढ़ी थी. इस तरह भारतीय अर्थव्यवस्था 2017 के मुकाबले 2018 में सुस्त रही. सूची में पहले स्थान पर अमेरिका है. दूसरे स्थान पर चीन की अर्थव्यवस्था है. जापान इस सूची में तीसरे स्थान पर है. 

आपको बता दें कि मोदी सरकार ने अगले पांच सालों में भारतीय अर्थव्यवस्था को 50 खरब तक पहुंचाने की बात कही थी. ऐसे में विश्व बैंक का ये ताजा आंकड़ा सरकार को परेशान कर सकता है. कारोबारी साल 2018 में अमेरिका की जीडीपी 205 खरब रही. चीन की जीडीपी 136 खरब रही. जापान की जीडीपी 50 खरब, ब्रिटेन और फ्रांस की जीडीपी 28 खरब और भारत की जीडीपी 27 खरब दर्ज की गई.



loading...