ताज़ा खबर

मध्यप्रदेश: कांग्रेस विधायक ने कहा- अगर ज्योतिरादित्य सिंधिया ने नई पार्टी बनाई तो मैं सबसे पहले जाऊंगा

वायुसेना विंग कमांडर ने अमित शाह बनकर मध्यप्रदेश के राज्यपाल को किया फोन, STF ने किया गिरफ्तार

सावरकर मसले पर हिंदू महासभा का हमला, हमने भी सुना है राहुल गांधी समलैंगिक हैं

Video: भाजपा सांसद प्रज्ञा ठाकुर के खिलाफ माखनलाल चतुर्वेदी यूनिवर्सिटी में लगे ‘आतंकवादी वापस जाओ’ के नारे

मध्यप्रदेश: पचमढ़ी आर्मी कैंप से राइफलें लेकर फरार हुए अज्ञात बदमाश, इलाके में हाईअलर्ट जारी

मध्यप्रदेश के रीवा में भीषण सड़क हादसा, बस-ट्रक की जोरदार टक्कर में 5 लोगों की मौत, 7 घायल

पूर्व लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने कहा- भाजपा सरकार होने के बाद भी जरुरी मुद्दे कांग्रेसी नेताओं के जरिए उठाती थी

2019-11-28_CongressMLA.jpg

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के नाराज चलने की चर्चाओं के बीच कांग्रेस के विधायक सुरेश धाकड़ (राठखेड़ा) का विवादित बयान आया है. उनका कहना है कि 'सिंधिया अगर कोई नई पार्टी बनाते हैं तो नई पार्टी में मैं सबसे पहले जाऊंगा.' शिवपुरी जिले के पोहरी विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस विधायक सुरेश राठखेड़ा से सिंधिया की नाराजगी को लेकर जब पत्रकारों ने पार्टी छोड़ने की चर्चाओं को लेकर सवाल पूछा तो उनका जबाव था कि अगर सिंधिया नई पार्टी बनाते हैं तो वह पहले सदस्य होंगे जो कांग्रेस छोड़कर जाएंगे.

उन्होंने कहा कि, "पहली बात तो यह है कि महाराज साहब (ज्योतिरादित्य सिंधिया) पार्टी छोड़ रहे हैं मुझे ऐसा नहीं लग रहा. उनके किसी दूसरी पार्टी में जाने का तो सपना आप लोग छोड़ दें. वे इतनी बड़ी ताकत हैं कि जब जो चाहें प्रदेश में कर सकते हैं. जिस दिन चाहेंगे मध्य प्रदेश में अपनी नई पार्टी खड़ी कर सकते हैं."

उन्होंने आगे कहा, "श्रीमंत महाराज साहब पार्टी बनाते हैं, तो सबसे पहले यही बंदा मिलेगा जो श्रीमंत महाराज साहब के साथ जाएगा, महाराज साहब जहां रहेंगे वहीं मैं रहूंगा. मैं महाराज साहब का ऋणी हूं. पार्टी सवरेपरि है, लेकिन महाराज उससे भी ऊपर हैं. मैं उनका एक छोटा सा चरण सेवक हूं."

आपको बता दें कि पिछले दिनों ज्योतिरादित्य सिंधिया द्वारा अपने ट्विटर से स्टेट्स बदलने के बाद गरमाई राजनीति में यह कयास लगाए गए कि सिंधिया मध्य प्रदेश में अपनी उपेक्षा के बाद से नाराज हैं. हालांकि, सिंधिया ने इन बातों को अफवाह बताया और बाद में सफाई दी कि उन्होंने तो अपना स्टेट्स एक महीने पहले ही बदल दिया था. अब उनके समर्थक विधायक के बयान ने नई बहस को जन्म दे दिया है.


 



loading...