स्वामी नित्यानंद ने किया दावा, एक साल के अन्दर ऐसी गाय बनाऊंगा जो तमिल और संस्कृत बोलेगी

तमिलनाडु: बाल-बाल बची 136 यात्रियों की जान, त्रिची एयरपोर्ट पर दीवार से जा टकराया एयर इंडिया का विमान

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी नोबल शांति पुरस्कार के लिए नामित, BJP नेता ने की पहल

तमिलनाडु में डीएमके के पूर्व पार्षद सेल्वाकुमार ने सैलून में घुसकर महिला को लात-घूसों से पीटा, विडियो वायरल

गुटखा घोटाला मामले में सीबीआई ने 40 ठिकानों पर की छापेमारी, तमिलनाडु के स्वास्थ्य मंत्री और पुलिस महानिदेशक के आवासों पर भी छापा

तमिलनाडु में पुलिस ने पांच संदिग्ध आतंकियों को गिरफ्तार किया, हिन्दू नेताओं की हत्या की कर रहे थे साजिस

अलागिरी के तेवर पड़े नरम, स्टालिन के नेतृत्व में काम करने को तैयार

2018-09-20_SwamiNityanand.jpg

खुद को भगवान बताने वाले स्वामी नित्यानंद ने दावा किया है कि वह गाय, बंदर और शेरों को संस्कृत और तमिल सिखा सकते हैं. सोशल मीडिया पर उनके एक प्रवचन का वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें वो इस तरह का दावा करते नजर आ रहे हैं. नित्यानंद का कहना है कि उन्होंने एक ऐसा सॉफ्टवेयर तैयार किया है, जिसके जरिए गाय, बंदर और शेर संस्कृत और तमिल बोलेंगे. उनका कहना है कि उन्होंने इस सॉफ्टवेयर का परीक्षण भी कर लिया है, जिसमें वो सफल रहे हैं. उन्होंने दावा किया है कि वो एक साल के भीतर इसे साबित करके दिखाएंगे. 

उन्होंने कहा कि उनके पास ऐसी आध्यात्मिक शक्ति है, जिसके जरिए वो गाय, बंदर आदि जानवरों में उन आंतरिक अंगों को भी विकसित कर सकते हैं, जो सिर्फ इंसानों के पास हैं. नित्यानंद ने कहा कि वह जानवरों के लिए वोकल कार्ड यानी बोलने की नली विकसित करेंगे. 

स्वामी नित्यानंद दक्षिण भारत के एक चर्चित और विवादित बाबा हैं. उन पर दक्षिण भारतीय फिल्मों की एक अभिनेत्री के साथ बलात्कार का आरोप भी लग चुका है. अभिनेत्री ने आरोप लगाया था कि उन्होंने उसके साथ 40 बार से ज्यादा रेप किया.

इसके अलावा नित्यानंद के कुछ शिष्यों ने भी उन पर शारीरिक शोषण के आरोप लगाए थे. यहां तक कि उनके खिलाफ जबरदस्ती समलैंगिक रिश्ता बनाने का भी आरोप लग चुका है. स्वामी नित्यानंद का जन्म पहली जनवरी 1978 को तमिलनाड़ु के थिरुनामलाई में हुआ था. नित्यानंद काफी छोटी उम्र में ही संन्यासी हो गए थे, बाद में उन्होने अपनी एक संस्था बनाई जिसका नाम ध्यानपीतम है.



loading...