CBI vs Mamata: गृह मंत्रालय ने कोलकाता पुलिस कश्मिनर के खिलाफ जांच के दिए आदेश, ममता सरकार को लिखा पत्र

बंगाल की खाड़ी में आया 5.1 तीव्रता का भूकंप, चेन्नई तक हिल गए घर और ऑफिस

CBI vs Mamata: विरोध प्रदर्शनों में शामिल होने वाले अधिकारियों पर गिरी गाज, वापस लिए जायेंगे मेडल

बंगाल में मचे विवाद के बीच पुरुलिया पहुंचे योगी आदित्यनाथ ने कहा, एक सीएम धरने पर बैठी हैं उन्हें लोकतंत्र पर विश्वास नहीं है

ममता सरकार ने योगी आदित्यनाथ के बाद अब शिवराज सिंह चौहान को नहीं दी हेलीकॉप्टर उतारने की अनुमति

CBI vs Mamata: सुप्रीम कोर्ट से ममता सरकार को झटका, पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार को CBI के सामने होना पड़ेगा पेश

बंगाल में मचे विवाद के बीच आज पुरुलिया में ममता सरकार पर हमला बोलेंगे योगी आदित्यनाथ

2019-02-05_HomeMinistry.jpg

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने पश्चिम बंगाल सरकार से कोलकाता पुलिस आयुक्त राजीव कुमार के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई शुरू करने को कहा है. एक अधिकारी ने बताया कि केंद्रीय गृह मंत्रालय ने ‘अनुशासनहीन बर्ताव’ और अखिल भारतीय सेवा नियमों का उल्लंघन करने के लिए कुमार के खिलाफ कार्रवाई की सिफारिश की है. 

इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को कोलकाता के पुलिस आयुक्त राजीव कुमार को निर्देश दिया कि वह शारदा चिटफंड घोटाले से संबंधित मामले की जांच में सीबीआई के साथ पूरी ईमानदारी से सहयोग करें और उसके लिए उपलब्ध रहें.

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि राजीव कुमार मेघालय के शिलांग स्थित जांच ब्यूरो के कार्यालय में जांच के लिए उपस्थित हों. न्यायालय ने कहा कि जांच के दौरान कोलकाता पुलिस आयुक्त को न तो गिरफ्तार किया जायेगा और न ही उनके प्रति कोई दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी.

आपको बता दें कि चिटफंड घोटाला मामले में सीबीआई द्वारा कोलकाता पुलिस प्रमुख राजीव कुमार से पूछताछ करने के प्रयास के बाद केंद्र सरकार पर सीबीआई के दुरुपयोग का आरोप लगाते हुए ममता बनर्जी रविवार शाम को कोलकाता में धरने पर बैठ गईं. 

सीबीआई की एक टीम रविवार को मध्य कोलकाता में कुमार के लाउडन स्ट्रीट स्थित आवास पहुंची थी लेकिन वहां तैनात कर्मियों ने उन्हें अंदर जाने से रोक दिया और उन्हें थाने ले गए. सीबीआई कुमार से लापता दस्तावेज और फाइलों के बारे में पूछताछ करना चाहती थी.



loading...