हिमाचल विधानसभा के लिए वोटिंग शुरू, 50 लाख वोटर चुनेंगे अगली सरकार, सुरक्षा के कड़े इंतजाम

2017-11-09_voting5.jpg

आज हिमाचल विधानसभा चुनाव के लिए वोट डाले जाएंगे. सूबे के 50 लाख मतदाता 68 सीटों पर खड़े 337 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला करेंगे. मतदान सुबह 8 से शाम 5 बजे तक चलेगा. चुनाव आयोग ने 399 मतदान केंद्रों को संवेदनशील घोषित किया है. सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए गए हैं. पोलिंग पार्टियां मतदान केंद्रों पर पहुंच चुकी हैं.

बुधवार को प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी पुष्पेंद्र राजपूत ने बताया कि धर्मशाला में सबसे ज्यादा 12 और झंडूता में सबसे कम 2 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं. किसी भी विषम परिस्थिति से निपटने के लिए एक हेलीकॉप्टर को स्टैंडबाय पर रखा गया है. चुनाव के दौरान शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए 80 फीसदी केंद्रीय अर्धसैनिक बलों की तैनाती की गई है. होमगार्ड और हिमाचल पुलिस के जवानों को भी लगाया गया है. चुनाव प्रबंधन के लिए पहले ही करीब 37 हजार कर्मचारियों को मतदान केंद्रों पर भेजा जा चुका है. 

इसके अलावा दूसरे राज्यों की सीमा से लगते क्षेत्रों में शत प्रतिशत अर्ध सैनिक बलों की तैनाती की गई है. संवेदनशील व अति संवेदनशील मतदान केंद्रों पर अर्धसैनिक बलों की तैनाती की गई है. साथ ही सेक्टर मजिस्ट्रेट व ऑब्जर्वर चुनाव गतिविधियों पर नजर बनाए हुए हैं.

वोटर मतदान करने के लिए 12 तरह के दस्तावेजों को प्रस्तुत कर सकता है. इसमें पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस, सरकारी अर्द्ध सरकारी, सार्वजनिक उपक्रम, पब्लिक लिमिटेड कंपनियों द्वारा कर्मचारियों को जारी किए जाने वाले सेवा पहचान पत्र, बैंकों, डाकघरों से जारी की गई पासबुक, पैन कार्ड, RGI और NPR द्वारा जारी स्मार्ट कार्ड, मनरेगा जॉब कार्ड, स्वास्थ्य बीमा स्मार्ट कार्ड, पेंशन दस्तावेज, निर्वाचन तंत्र की ओर से जारी प्रमाणित फोटो मतदाता पर्ची, सांसदों और विधायकों को जारी किए गए सरकारी पहचान पत्र और आधार कार्ड शामिल हैं.



loading...