बारिश ने मचाई तबाही: घर पर मौत बनकर गिरा पहाड़, पूरा परिवार जिंदा दफन

2018-08-13_himachal-heavy-rain.jpg

हिमाचल प्रदेश में मूसलाधार बारिश ने कहर बरपा दिया है। प्रदेश में अब तक भाजपा नेता समेत 9 लोगों की मौत हो चुकी है। कई लोग लापता हैं। जिला बिलासपुर के जगत खाना में मकान के धंस जाने से भाजपा मत्स्य प्रकोष्ठ के संयोजक की मौत की सूचना है। प्रशासन मौके पर रवाना हो गया है। सोलन जिले के कंडाघाट उपमंडल के चाकला गांव में रात को सो रहे परिवार पर मलबा आ गिरा।

पूरा परिवार जिंदा दफन हो गया। चार लोगों की मौत की पुष्टि हुई है जबकि परिवार का पांचवा सदस्य बाल-बाल बच गया। हिन्नर पंचायत प्रधान निशा ठाकुर ने बताया कि हादसे में पति-पत्नी और उनके दो बच्चों की मौत हुई है।

मृतकों में देवेंद्र उसकी पत्नी बीना और इनके दो बच्चे शामिल हैं। ये सभी एक ही कमरे में सो रहे थे। रात को अचानक बाढ़ आई और कमरे की दीवार को तोड़ते हुए चट्टानें और मलबा आ गिरा। देवेंद्र के पिता रूप सिंह मकान के अलग कमरे  में सो रहे थे। वे इस हादसे में बाल-बाल बच गए। डीसी विनोद कुमार ने बताया कि प्रशासन को मौके के लिए रवाना कर दिया गया है। 

हमीरपुर के भोरंज उपमंडल में मकान गिरने से दबकर दादी-पोती की मौत हो गई। भारी बारिश से जिला भर में आधा दर्जन से अधिक सड़कें बंद हो गई हैं। ऊना में इनोवा कार गिरने ढाई साल की बच्ची खाई में जा गिरी। साथ ही उस पर मलबा गिर गया। बच्ची की मलबे में दबकर मौत हो गई। मंडी जिले के तड़ुन में लैंडस्लाइड होने से महिला घर के अंदर दब गई। महिला की मौके पर ही मौत हो गई।

मंडी जिले के कोटरोपी रोड बंद होने के बाद पठानकोट मार्ग पर बस धंस गई। सभी यात्री बाल-बाल बच गए। कालका-शिमला हाईवे पर चक्की मोड व तंबु मोड के पास लैंडस्लाइड होने के कारण हाईवे बंद हो गया है। प्रशासन ने भारी बारिश के चलते चंबा, हमीरपुर, शिमला, कांगड़ा जिलों के स्कूलों में छुट्टी कर दी है।



loading...