महाराष्ट्र: नागपुर में भारी बारिश की वजह से विधानसभा की बिजली गुल, मोमबत्ती जलाकर बैठे विधायक, कार्यवाही स्थगित

महाराष्ट्र के पुणे में बोरवेल में फंसे 6 साल के मासूम को NDRF की टीम ने 16 घंटे के रेस्क्यू ऑपरेशन के बाद बचा लिया

उद्धव ठाकरे ने बताया, बागी तेवर दिखाने वाली शिवसेना ने बीजेपी से गठबंधन क्यों किया?

महाराष्ट्र में साथ मिलकर लोकसभा चुनाव लड़ेंगी बीजेपी और शिवसेना, उद्धव ठाकरे और अमित शाह संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस कर करेंगे ऐलान

शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा- केंद्र में NDA की सरकार बने तो राज्य में मुख्यमंत्री हमारा होना चाहिए

खेलने की वजह से टीवी देखने में खलल डाल रही थी बेटी, गुस्से में मां ने मासूम के शरीर को मोमबत्ती से दागा

आज से मुंबई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे का एक रनवे बंद, 5000 उड़ानें प्रभावित होने की संभावना

2018-07-06_nagpur.jpg

नागपुर में आज सुबह से हो रही तेज बारिश के कारण विधानसभा की कार्यवाही स्थगित करनी पड़ी. पावर सब-स्टेशन में पानी भरा होने से विधानसभा भवन में बिजली ठप हो गई. तेज बारिश के कारण विधायक बाहर नहीं निकल पाए और मोमबत्ती जलाकर बैठे रहे. वहीं, खराब मौसम की वजह से मुंबई से नागपुर आने वाली इंडिगो फ्लाइट को हैदराबाद में उतारा गया.

महाराष्ट्र में मुंबई के अलावा नागपुर में भी विधानसभा है. यहां कार्यवाही सुबह 10 बजे से शुरू हुई थी. तकरीबन एक घंटे बाद पूरे विधानसभा में बिजली चली गई. इसके बाद विधानसभा अध्यक्ष हरिभाऊ बागडे ने पूरे दिन के लिए सदन को स्थगित कर दिया. उन्होंने बाद में विधानसभा परिसर का एक सीवर खुद खड़े होकर साफ कराया ताकि विधान भवन में जमा पानी निकल सके. मौसम विभाग के मुताबिक, पूरे विदर्भ में सुबह से लगातार बारिश हो रही है. नागपुर के 60% हिस्से में घुटनों तक पानी है. शहर के डोबीनगर और जोगी नगर इलाके में पानी 7-8 फीट तक भर चुका है.

इस बीच, मौसम विभाग ने शुक्रवार को 17 राज्यों में बारिश का अलर्ट जारी किया है. कोंकण-गोवा के कुछ इलाकों में भारी बारिश होने का अनुमान है. मध्य महाराष्ट्र और विदर्भ में भी दिनभर मूसलाधार बारिश हो सकती है. छत्तीसगढ़, पश्चिम बंगाल, सिक्किम, असम, मेघालय, नगालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, ओडिशा, गुजरात, मराठवाड़ा, तेलंगाना और तटीय कर्नाटक में तेज बारिश हो सकती है. इसके अलावा तमिलनाडु, रायलसीमा और तटीय आंध्र प्रदेश में गरज-चमक के साथ तूफान की आशंका जाहिर की गई है.

उत्तर प्रदेश के सिद्धार्थनगर में बूढ़ी राप्ती का जलस्तर घटने के बावजूद ग्रामीण क्षेत्रों में जलभराव बरकरार है. वहीं, बैदौली गांव के पास बाणगंगा नदी से कटान की आशंका है. उधर, जम्मू-कश्मीर में 3 दिन बाद शुक्रवार सुबह पहलगाम रूट पर अमरनाथ यात्रा शुरू हो गई है. हालांकि भूस्खलन के कारण बालटाल रूट पर श्रद्धालु अब भी फंसे हुए हैं. भारी बारिश के चलते भगवती नगर के यात्री निवास से श्रद्धालुओं के नए जत्थों को शुक्रवार सुबह पहलगाम और बालटाल स्थित बेस कैंप के लिए रवाना नहीं किया गया.



loading...