ताज़ा खबर

डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीट में कॉपी की टीवी शो की टैगलाइन, चैनल ने जताई आपत्ति

पाकिस्तान ने भारत को खुश करने के लिए उठाया यह कदम, पाक मीडिया के अनुसार शारदा पीठ कॉरिडोर को खोलने की दी मंजूरी

पाकिस्तान: नाबालिग हिंदू लड़कियों का निकाह कराने वाला मौलवी गिरफ्तार, पीड़ितों ने कोर्ट में लगाई गुहार

जैश-ए-मोहम्मद सरगना मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने के लिए चीन को मनाने में लगे अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस

पुलवामा हमले के आरोपी मसूद अजहर पर फ्रांस का बड़ा कदम, जब्त होंगी सभी संपत्तियां

न्‍यूजीलैंड के क्राइस्‍टचर्च में दो मस्जिदों में अंधाधुंध फायरिंग, कई की मौत, बाल-बाल बची बांग्लादेश क्रिकेट टीम

पाकिस्तान में भी उठने लगी आतंकवाद के खिलाफ आवाज, बेनजीर के बेटे ने इमरान सरकार पर लगाया गंभीर आरोप

2018-11-03_Trump.jpg

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के ट्वीट पर एचबीओ चैनल ने आपत्ति जताई है. ट्रम्प ने शुक्रवार को 'सैंक्शंस आर कमिंग नवंबर 5' लिखकर अपनी फोटो के साथ ट्वीट किया. उन्होंने ईरान पर 5 नंवबर से लागू होने वाले अमेरिकी प्रतिबंधों को लेकर ऐसा लिखा.

एचबीओ चैनल इसे अपने पॉपुलर शो ‘गेम ऑफ थ्रोन्स की सिग्नेचर लाइन विन्टर इज कमिंग’ से जोड़कर देख रहा है. ट्रम्प के शब्दों में अंग्रेजी का 'ओ' लेटर भी वर्टिकल क्रॉस किया हुआ है. यह भी गेम ऑफ थ्रोन्स के लोगो की तरह है. एचबीओ के शो में 'विन्टर इज कमिंग' का इस्तेमाल मौसम से जुड़ी चेतावनी के रूप में किया जाता है.

न्यूयॉर्क टाइम्स के मुताबिक एचबीओ ने ट्रम्प को जवाब देते हुए कहा है कि ‘हमें इससे दूर रखो हम अपने ट्रेडमार्क का राजनीतिक इस्तेमाल नहीं चाहते.’ गेम ऑफ थ्रोन्स के कलाकारों ने भी ट्रम्प के ट्वीट की निंदा की. इस विवाद पर शुक्रवार शाम तक व्हाइट हाउस से कोई प्रतिक्रिया नहीं मिल पाई.

कई सालों पहले ट्रम्प ने एचबीओ के खिलाफ ट्वीट वॉर छेड़ा था. उस दौरान ट्रम्प ने दर्शकों से एचबीओ का अकाउंट रद्द करने के लिए कहा था. क्योंकि, चैनल पर अमेरिकी कॉमेडियन बिल माहेर का टॉक शो आता था. ट्रम्प का माहेर से विवाद था.

अमेरिका ने 2015 में ईरान के साथ हुए परमाणु समझौते से खुद को इस साल मई में अलग कर लिया था. इसके बाद ट्रम्प ने ईरान के खिलाफ नए प्रतिबंध लागू करने की घोषणा की थी. अमेरिका प्रतिबंधों से ईरान के ऑयल सेक्टर से जुड़े बैंकिंग, शिपिंग, इंश्योरेंस समेत 700 कारोबार प्रभावित होंगे. 

ट्रम्प चाहते हैं कि दुनिया के बाकी देश भी 5 नवंबर से पहले ईरान से तेल सप्लाई बंद कर दें नहीं तो उन्हें भी प्रतिबंध झेलने पड़ सकते हैं. हालांकि, भारत समेत 8 देशों को इससे छूट मिलने की उम्मीद है.



loading...