ताज़ा खबर

घने कोहरे के कारण रोहतक-रेवाड़ी हाईवे पर 50 गाड़ियां टकराईं, 8 की मौत

Haryana Board 10th Result: झज्जर के हिमांशु ने किया टॉप, यहां देखें अपना परिणाम

हरियाणा के सिरसा राहुल गांधी ने कहा- मोदी के नकली वादे कभी पूरे नहीं होंगे, लेकिन हमारे 72 हजार जरुर आयेंगे

नवजोत सिंह सिद्धू पर रोहतक की रैली में महिला ने फेंकी चप्पल, पुलिस ने हिरासत में लिया

लोकसभा चुनाव: फतेहाबाद के बाद कुरुक्षेत्र में पीएम मोदी ने कहा- मुझे एक से एक गाली दे रहे कांग्रेस के लोग, जवानों के खून का दलाल कहा गया

लोकसभा चुनाव: हरियाणा के फतेहाबाद में पीएम मोदी ने कहा- आपको जमीन हड़पने वालों को जेल भेजकर रहूंगा

हरियाणा के अंबाला में प्रियंका गांधी वाड्रा ने दुर्योधन से की पीएम मोदी की तुलना, कहा- मेरे शहीद पिता का अपमान बर्दास्त नहीं

2018-12-24_JhajjharAccident.jpg

घने कोहरे के कारण सोमवार को रोहतक-रेवाड़ी हाईवे पर 50 से अधिक वाहन एक-दूसरे से टकरा गए. इन वाहनों में कई कारें टेम्पो, ट्रक और स्कूल बसें शामिल थीं. ये वाकया तब हुआ जब एक क्रूजर जीप की ट्रक से टक्कर हो गई. इस हादसे में 8 लोगों की मौत हो गई है और 10 घायल हुए हैं. एक्सीडेंट में मारे लोगों में 6 महिलाएं शामिल हैं.

हादसे के बाद अधिकारी दुर्घटना स्थल पर पहुंच गए. घायलों को नजदीक के अस्पतालों में ले जाया गया है. इनमें से दो की हालत नाजुक बताई जा रही है. सभी मृतक किरदोध गांव से है और ये लोग अपने किसी संबंधी के निधन पर शोक प्रकट करने जीप से दिल्ली के नजफगढ़ जा रहे थे. पुलिस ने कहा कि जीप की पहले एक पिकअप वाहन से टक्कर हो गई और उसके बाद पीछे से तेज गति से आ रहे ट्रक ने उसे कुचल दिया, इसमें आठ लोगों की घटना स्थल पर ही मौत हो गई.

झज्जर पुलिस के एक अधिकारी ने कहा, कूजर जीप की ट्रक से टक्कर के बाद उसके पीछे आ रहे कई वाहन एक-दूसरे से टकरा गए. घने कोहरे के कारण वहां दृश्यता खराब थी.

पुलिस ने बताया कि झज्जर बाईपास पर आज सुबह घने कोहरे के चलते दृश्यता कम होने के कारण हादसा हुआ, जिससे कई वाहन एक-दूसरे से टकरा गए. पीड़ित जीप में सवार थे. दरअसल, घने कोहरे के कारण हरियाण और पंजाब के अधिकतर इलाकों में दृश्यता घट गई है. इनमें अमृतसर, लुधियाना, पटियाला, भटिंडा, गुरदासपुर, फिरोजपुर, हिसार, करनाल, अंबाला, भिवानी, सिरसा आदि हैं. आपको बता दें कि इस साल के शुरुआत में एनएच 44 में इसी तरह से कई हादसे हुए थे और कई लोग मारे गए थे.



loading...