ताज़ा खबर

बलात्कारी बाबा को हो सकती है इतने साल की सजा, गंभीर धाराओं के तहत दोषी है बाबा

HCS पेपर लीक मामले में चीफ जस्टिस कृष्ण मुरारी ने पूछा- बिना पढ़े-लिखे 43 वर्ष की हाउसवाइफ टॉपर कैसे बन गई?

रेवाड़ी गैंगरेप केस में पुलिस ने मुख्य आरोपी निशु फोगाट को किया गिरफ्तार, SP राजेश दुग्गल का तबादला

हरियाणा के रेवाड़ी में राष्ट्रपति से सम्मानित छात्रा को अगवा करके 12 लड़कों ने किया दुष्कर्म, न्याय के लिए भटक रहा परिवार

पतंजलि ने लांच किया दुग्धामृत दूध, अमूल, मदर डेयरी, नमस्ते इंडिया और पारस से हैं इतने कम रेट

गुरुग्राम में तीन मंजिला इमारत में लाउडस्पीकर से अजान, नगर निगम ने मस्जिद को किया सील

पश्चिम बंगाल, बिहार, असम में भूकंप, रिक्टर पैमाने पर तीव्रता 5.5 मापी गई, घरों-ऑफिस से बाहर निकले लोग

2017-08-28_gurmeet-ram-rahim-pti.jpg

IPC की गंभीर श्रेणी में आता है बाबा का अपराध. जिसके तहत आज मिल सकती है डेरा प्रमुख को कई सालों तक जेल में रहने की सजा. डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम को सीबीआई की विशेष अदालत ने दोषी करार दिया है. तमाम अटकलें इसी बात को लकर लगाई जा रही हैं कि बाबा कितने सालों तक जेल में चक्की पीसेगा.

आपको बता दें राम रहीम पर कोर्ट में यौन उत्पीड़न यानी आइपीसी की धारा 376 के तहत मामला चला. इस धारा में आने वाला अपराध संगीन होता है. किसी भी महिला के साथ बलात्कार करने के आरोपी पर आइपीसी की धारा 376 के तहत मुकदमा चलाया जाता है. तो इस लिहाज से बाबा को कम से कम 7 साल और अधिकतम 10 साल की सजा होगी. इसके अलावा मामले की गंभीरता तो देखते हुए बाबा को उम्र कैद भी हो सकती है. सजा के साथ-साथ जुर्माने का भी प्रावधान है. यह भी पढ़ें: बलात्कारी बाबा के 10 चौंकाने वाले ख़ुलासे, सीबीआई जानकर रह गयी दंग

दफा 376 के अलावा गुरमीत सिंह IPC की धारा 506 में भी दोषी है. ये धारा किसी को जान से मारने की धमकी देने पर लागई जाती है और सिद्ध होने पर दो साल तक की सजा और जुर्माना हो सकता है.

तीसरी दफा 354 लगी है. इस धारा के तहत अगर कोई दोषी होता है तो उसे दो साल की कैद और जुर्माना लगता है. बाबा पर यह आरोप भी सिद्ध हुआ है.

कुछ ही देर में फैसला हो जाएगा कि बलात्कारी बाबा कितने सालों के लिए जेल की हवा खायेगा.



loading...