5 से 28 फीसदी होंगी GST दरें, महंगाई घटने के आसार

2016-11-04_gst54.jpg

गुरुवार को वस्तु एवं सेवा कर (GST) परिषद ने 4 टियर GST व्यवस्था को अपनी मंजूरी दी है. फ़िलहाल काउंसिल ने GST को लागू करने के लिए 5, 12, 18 और 28 फीसदी रेट तय किए हैं. लेकिन खुशखबरी ये है कि GST की इस व्यवस्था में सबसे कम टैक्स आम लोगों के इस्तेमाल की चीजों पर लगाया जाएगा. दैनिक उपभोग की सेहतमंद चीजों पर कम टैक्स लगाने की तैयारी की जा रही है. वहीं, लग्जरी कार, टोबैको प्रोडक्ट्स, सॉफ्ट ड्रिंक्स और सेहत खराब करने वाली चीजों पर अधिक टैक्स लगाए जाने का अनुमान है. 

जानकारी के मुताबिक, GST में 12 से 18 फीसदी स्टैंडर्ड रेट होंगे. जेटली भरोसा जताया है कि GST तय समय से लागू किया जाएगा. केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बृहस्पतिवार को हुई GST काउंसिल की चौथी बैठक के बाद संवाददाताओं को बताया कि जीएसटी दरों पर सहमति बन गई है. GST काउंसिल ने सर्वसम्मति से GST के लिए 5 फीसदी, 12 फीसदी, 18 फीसदी और 28 फीसदी की दरें तय की हैं. 12 फीसदी और 18 फीसदी GST की स्टैंडर्ड दरें होंगी.

बताया जा रहा है कि खाने-पीने की चीज़ों को ज़रूरी सामानों को महंगाई से बचाने के लिए कर मुक्त रखा गया है. इसके मुताबिक करीब 50 प्रतिशत चीज़ें ऐसी हैं, जिन पर कोई कर लगाया ही नहीं जाएगा. वहीं, अनुमान लगाया जा रहा है कि केंद्र सरकार GST 1 अप्रैल 2017 से लागू कर सकती है. 

बता दें कि लग्जरी कार, तंबाकू सॉफ्ट ड्रिंक्स पर 28 फीसदी टैक्स लगाया जाएगा. हेल्थ, एजुकेशन और कमोडिटी पर 18 फीसदी टैक्स लगाया जाएगा. तम्बाकू, एयरेटेड ड्रिंक्स और प्रदूषण फैलाने वाले प्रोडक्ट्स पर एडिशनल सेस लगाने का प्रपोजल भी है. वहीं, दैनिक उपभोग की चीजों पर 5 फीसदी टैक्स लगाए जाने का अनुमान है.
 



loading...