ताज़ा खबर

अब टीवी देखना हुआ और सस्ता, TRAI ने कम किए पैकेज के दाम

2020-01-13_TRAI.jpg

टीवी देखने वाले करोड़ों परिवारों के लिए खुशखबरी है. दरअसल अब टीवी देखना और सस्ता होने वाला है. ट्राई के मुताबिक, अब एक चैनल की अधिकतम कीमत 12 रुपये होगी जो पहले 19 रुपये थी. इसी के साथ एक ही घर में दो कनेक्शन पर 40 फीसदी की छूट भी दी जाएगी. ट्राई (भारतीय दूरसंचार विनियामक प्राधिकरण) के हमने 2018 में शुरू किया केबल चैनल प्राइसिंग को उसको ब्रॉडकास्टर्स ने डिसटॉर्ट किया गया, जहां कहीं कुछ कमियां रह गयी थी, उसको ठीक किया गया है. जो फ्रीडम ब्रॉडकास्टर्स को दी उस पर कोई पाबंदी नहीं है. 19 रुपये जो अधिकतम प्राइस था वो घटाकर हमने 12 रुपये कर दिया है.

जो कम दाम के चैनल थे उसको भी 19 रुपये कर दिया गया था ग्राहक के इंटरेस्ट के खिलाफ काम किया. किसी चैनल की प्राइस बुके से ज्यादा नहीं होना चाहिए. 100 चैनल की बजाए 130 रुपये में हमने 200 चैनल किया. जिस घर में एक से ज्यादा टीवी है, एक टीवी के लिए 130 रुपये है नेटवर्क कैपेसिटी फी. दूसरी या उससे अधिक टीवी के लिये नेटवर्क कैपेसिटी फी 40 फीसदी से ज्यादा नहीं होना चाहिए. ट्राई बुके के खिलाफ नहीं है. ये पालिसी लागू होने के बाद 200 फीसदी, 100 फीसदी तक ब्रॉडकास्टर्स ने रेट बढ़ा दिया इसलिए हमें हस्तक्षेप करना पड़ा.

ये होंगे फायदे-
ट्राई की जारी नई टैरिफ पॉलिसी में ट्राई ने साफ किया है कि कोई भी केबल ऑपरेटर अपने एक प्लेटफॉर्म पर सभी फ्री टू एयर चैनलों के लिए प्रतिमाह 160 रुपये से ज्यादा नहीं वसूल सकेगा.

ऑपरेटर सभी फ्री टू एयर चैनल दिखाने के लिए भी 160 रुपये प्रतिमाह से ज्यादा नहीं वसूल पाएंगे. ट्राई ने साफ किया है कि इन चैनलों में वह चैनल शामिल नहीं हैं जिन्हें सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने अनिवार्य घोषित किया है. दूरदर्शन से जुड़े ऐसे चैनलों की संख्या 26 है.

इस नियम से सस्ते टीवी चैनल देखने वालों को काफी राहत मिलेगी क्योंकि एक चैनल का नाम लेकर कई ऑपरेटर तमाम ऐसे चैनलों का ग्रुप बना देते थे जिसे ग्राहक देखना नहीं चाहता था. ट्राई ने पिछले साल नई टैरिफ व्यवस्था लागू की थी, जिसमें दर्शक केवल उन्हीं चैनल के लिए पैसे देंगे, जिन्हें देखना चाहते हैं.

वह केबल चैनल जो 12 रुपये या उससे कम की कीमत वाले हैं केवल वह ही बुके का हिस्सा होंगे. यानी अब चैनल की कॉस्ट 19 रुपये से घटकर 12 रुपये पर आ गई है.

इसके अलावा 12 रुपये से अधिक कीमत वाले सभी टीवी चैनल किसी भी बुके का हिस्सा नहीं होंगे. इन चैनलों को ग्राहक अलग से ले सकेंगे. वह केबल चैनल जो 12 रुपये या उससे कम की कीमत वाले हैं उनके लिए एक अलग से ग्रुप बनाया जा सकता है.



loading...