स्वामी चिन्मयानंद पर यौन शोषण का आरोप लगाने वाली छात्रा राजस्थान में मिली

2019-08-30_chinmaynand.jpg

उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर के विश्वविद्यालय से कानून की पढ़ाई करने वाली एक लड़की बीते शनिवार को गायब हो गई थी. अब उसे राजस्थान से बरामद कर लिया गया है. उत्तर प्रदेश पुलिस की एक टीम को राजस्थान में उसके होने का पता चला जिसके बाद उसे आज सुबह बरामद किया गया. लड़की अपने एक दोस्त के साथ मिली है. लड़की का गायब होना काफी सुर्खियां बटोर रहा था. उसने सोशल मीडिया पर भाजपा नेता स्वामी चिन्मयानंद पर यौन शोषण का आरोप लगाते हुए एक वीडियो जारी किया था. जिसके बाद वह गायब हो गई थी.

वहीं वकीलों के समूह की याचिका पर उच्चतम न्यायालय ने स्वत: संज्ञान लिया है. अदालत आज इस मामले की सुनवाई करने वाली है. बुधवार को कुछ वकीलों ने शीर्ष अदालत में याचिका देकर इस मामले में स्वत: संज्ञान लेने की अपील की थी. वकील समूह का कहना है कि पूर्व मंत्री पर आरोप लगाने वाली छात्रा पिछले तीन दिनों से उत्तर प्रदेश से गायब है. इसलिए अदालत दखल दे. 

लापता हुई छात्रा ने एक वीडियो क्लिप में आरोप लगाया था कि चिन्मयानंद उसे प्रताड़ित कर रहे थे, जिसके बाद शाहजहांपुर पुलिस ने मंगलवार को चिन्मयानंद के खिलाफ एक प्राथमिकी दर्ज की थी. छात्रा के पिता ने पुलिस के पास एक शिकायत दर्ज करा कर आरोप लगाया था कि चिन्मयानंद ने उसका (छात्रा का) यौन उत्पीड़न किया है. हालांकि, भाजपा नेता के वकील ने इस आरोप का खंडन करते हुए दावा किया कि यह उन्हें ब्लैकमेल करने की एक साजिश है. महिला के पिता ने आरोप लगाया कि वह (छात्रा) मुमुक्षु आश्रम के प्रमुख एवं 72 वर्षीय भाजपा नेता के इशारे पर लापता की गई. वह आश्रम द्वारा संचालित एक कॉलेज में स्नातकोत्तर (पीजी) की छात्रा है.

पूर्व गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद पर आरोप लगाने वाली छत्रा के हॉस्टल रूम को पुलिस ने बुधवार देर शाम सील कर दिया. इस दौरान कॉलेज स्टाफ के कुछ लोगों से पुलिस की झड़प भी हुई, लेकिन पुलिस ने आखिर रूम को सील कर दिया.

अपहृत छात्रा के पिता ने हॉस्टल रूम देर से सील किए जाने पर पुलिस को कठघरे में खड़ा किया है. उनका कहना है कि तहरीर दिए जाने के तीसरे दिन शाम को कमरा सील किया गया. यह केवल लीपापोती की कार्रवाई है. तीन दिन में तो रूम में रखे सबूतों से कोई भी छेड़छाड़ कर सकता है.



loading...