उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में चाइनीज डिवाइस की मदद से एटीएम से पैसे उड़ाने वाले गिरोह को पुलिस ने दबोचा

2018-12-01_Prayagraj.jpg

यूपी के प्रयागराज में एटीएम फ्राड का अनोखा तरीका सामने आया है. पुलिस ने चाइनीज डिवाइस से एटीएम ब्‍लॉक करके कैश निकालने वाले गैंग को पकड़ा है. गैंग में पकड़े गए चार लोगों में तीन बीटेक के छात्र बताए गए हैं. पुलिस इसे चाइना गैंग का नाम दे रही है और दावा कर रही है कि यह गैंग शहर के कई एटीएम से कैश निकालने के साथ ही कानपुर में भी वारदातों को अंजाम दे चुका है. पुलिस ने गैंग के पास से 25 हजार की नकदी, एटीएम ब्‍लॉक करने वाला डिवाइस और कई एटीएम कार्ड बरामद किए हैं.

प्रयागराज पुलिस के मुताबिक, 20 नवंबर को धूमनगंज के एक बैंक एटीएम से कैश निकालते समय दो लोग सीसीटीवी में कैद हुए थे. सीसीटीवी की जांच में पता चला कि इन्‍हीं लोगों ने प्रयागराज के चांदपुर सलोरी सहित शहर के कई दूसरे एटीएम से रुपये निकाले हैं. इस पर पुलिस ने क्राइम ब्रांच की सहायता से चारों को दबोच लिया. पुलिस के मुताबिक, गैंग में शामिल चार लोगों में तीन बीटेक करने वाले छात्र हैं. इसमें एक बलिया, दूसरा फतेहपुर का रहने वाला हैं, जबकि दो चोर कानपुर के ट्रांसपोर्टनगर के रहने वाले बताए गए हैं.

पुलिस की पूछताछ में कानपुर से बीटेक कर रहे आरोपी छात्र ने बताया कि दो साल पहले उसकी फेसबुक पर चीन के जूई जैंग नाम के शख्‍स से दोस्‍ती हुई थी. फेसबुक मैसेंजर पर ही दोनों में बातचीत होती थी. छात्र के मुताबिक, जूई ने ही उसे एटीएम फ्राड करना सिखाया था. इस दौरान उसने न केवल फ्राड करने का तरीका बताया बल्कि अपराध करने के लिए उपकरण भी बेचा. जूई जैंग के कहने पर उसने एटीएम फोर्क ऑनलाइन मंगाया था. इसके बाद बीटेक छात्र लालच में फंस गया और हजारों रुपये खर्च कर इसका ट्रायल भी शुरू कर दिया और अब वह पुलिस की गिरफ्त में है. पूछताछ में पता चला कि इससे पहले वह कानपुर में इस तरह का अपराध कर चुके हैं.



loading...