गुरुग्राम: फोर्टिस अस्पताल के 2 डॉक्टर गिरफ्तार, इलाज में लापरवाही बरतने का आरोप

HCS पेपर लीक मामले में चीफ जस्टिस कृष्ण मुरारी ने पूछा- बिना पढ़े-लिखे 43 वर्ष की हाउसवाइफ टॉपर कैसे बन गई?

रेवाड़ी गैंगरेप केस में पुलिस ने मुख्य आरोपी निशु फोगाट को किया गिरफ्तार, SP राजेश दुग्गल का तबादला

हरियाणा के रेवाड़ी में राष्ट्रपति से सम्मानित छात्रा को अगवा करके 12 लड़कों ने किया दुष्कर्म, न्याय के लिए भटक रहा परिवार

गुरुग्राम में तीन मंजिला इमारत में लाउडस्पीकर से अजान, नगर निगम ने मस्जिद को किया सील

हरियाणा के कुरुक्षेत्र से बीजेपी के सांसद राजकुमार सैनी ने अपनी नई पार्टी का किया ऐलान, 2 सितंबर को करेंगे रैली

हरियाणा के रोहतक में कोर्ट में गवाही पर आई लड़की और सब इंस्पेक्टर की गोली मारकर हत्या, पुलिस ने ऑनर किलिंग का शक जताया

2018-04-13_fortis54.jpg

गुरुग्राम पुलिस ने फोर्टिस अस्पताल के 2 डॉक्टरों पर बड़ी कार्रवाई की है. पुलिस ने सीमा घई की मौत के मामले में 2 डॉक्टरों को गिरफ्तार किया है. कार्डियोलॉजिस्ट कंसलटेंट डॉक्टर एसएस मूर्ति और मेडिकल ऑफिसर डॉक्टर वज्जा नागार्जुन को SIT की ओर से गिरफ्तार किया गया है.

मेडिकल नेगलिजेंस रिपोर्ट में कहा गया है कि इन्होंने हार्ट अटैक पेशेंट को गोली नहीं दी, जिसके कारण उनकी मौत हुई. गौरतलब है कि मई, 2017 में सीमा घई को दिल का दौरा पड़ा था जिसके बाद परिवार वाले उन्हें फोर्टिस अस्पताल लेकर आए थे.

अस्पताल में दर्द से तड़प रही सीमा घई का समय पर इलाज शुरु नहीं किया गया, जिसके चलते उसकी मौत हो गई थी. सीमा के परिजनों ने इस मामले पर एक्शन लेते हुए स्वास्थ्य विभाग के मेडिकल नेगलिजेंस बोर्ड को शिकायत दी.

बोर्ड ने मामले में जांच कराई जिसमें घई की मौत में अस्पताल के दो डॉक्टर डॉ. एसएस मूर्ति और डॉ. वी नागार्जुन की लापरवाही सामने आई. इतना ही नहीं मरीज की मेडिकल रिपोर्ट को भी ठीक तरीके से नहीं देखा गया.

बोर्ड की रिपोर्ट के बाद सुशांत लोक पुलिस स्टेशन में दोनों डॉक्टरों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली गई थी जिसके बाद आज इन दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया है.अब मृतक के परिजन आरोपी डॉक्टरों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग कर रहे हैं.
 



loading...