बिहार में NDA को झटका, राबड़ी-तेजस्वी से मिलने के बाद 'महागठबंधन' में शामिल हुए मांझी

2018-02-28_Jitan_Ram_Manjhi_quits_NDA.jpg

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने बुधवार को महागठबंधन का दामन थामने की घोषणा की. मांझी ने बताया कि वो गुरुवार को इसकी औपचारिक घोषणा करेंगे. एनडीए में हाशिये पर चल रहे हिंदुस्तान आवाम मोर्चा (हम) के प्रमुख मांझी ने इससे पहले बुधवार को पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी से उनके आवास पर मुलाकात की. मंगलवार को राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव के बेटे तेजस्वी यादव ने उनसे मुलाकात की थी. मंगलवार को सुबह 10 बजे तेजस्वी अपनी पार्टी के नेताओं भोला यादव और भाई वीरेंद्र के साथ मांझी के आवास पर मिलने पहुंचे थे. इसके कुछ देर बाद ही लालू के बड़े बेटे और पूर्व मंत्री तेजप्रताप यादव भी मांझी से मिलने उनके आवास पर जा पहुंचे.

राबड़ी देवी से मुलाकात के बाद जीतनराम मांझी ने एनडीए छोड़ने की घोषणा कर दी. उन्होंने राजद नेता तेजस्वी यादव के साथ मीडिया को संबोधित भी किया. इस मौके पर तेजस्वी ने कहा कि मांझी उनके माता-पिता के पुराने दोस्त हैं. हम उनका स्वागत करते हैं.

मांझी एनडीए में हो रही उपेक्षा से लगातार नाराज चल रहे थे और उन्होंने एनडीए छोड़ने के संकेत भी दिए थे. मांझी ने हाल के दिनों में जहानाबाद उपचुनाव में टिकट न मिलने से नाराजगी जाहिर करते हुए चुनाव प्रचार नहीं करने की बात कही थी. दूसरी ओर राजद की तरफ से लगातार मांझी को एनडीए छोड़ महागठबंधन में शामिल होने का ऑफर दिया जा रहा था.

मालूम हो कि मांझी ने बिहार की तीन सीटों के लिए होने वाले उपचुनाव को लेकर भी नाराजगी जाहिर की थी. मांझी ने जहानाबाद सीट से दावेदारी की थी जिससे जेडीयू ने अपना उम्मीदवार खड़ा किया है. विधानसभा की दो और लोकसभा की एक सीट के लिये 11 मार्च को उपचुनाव होना है.



loading...