ताज़ा खबर

भारत के कार एक्‍सपोर्ट में फोर्ड का कब्‍जा, दूसरे नंबर पर ह्युंडई मोटर

2018-04-19_ford54.jpg

ऑटोमोबाइल कंपनि‍यों का डोमेस्‍टि‍क मार्केट की ओर शि‍फ्ट होने और GST रीफंड्स में आई दि‍क्‍कतों की वजह से भारत से होने वाला पैसेंजर व्‍हीकल एक्‍सपोर्ट 1.51 फीसदी गि‍र गया है. हालांकि, इस गि‍रावट का असर अमेरि‍का की बड़ी कार कंपनी फोर्ड इंडि‍या पर नहीं पड़ा है. 

जानकारी के मुताबिक , फोर्ड इंडि‍या भारत से एक्‍सपोर्ट करने वाली कंपनि‍यों की लि‍स्‍ट में टॉप पर है. फोर्ड इंडि‍या ने फाइनेंशि‍यल ईयर 2017-18 में 1,81,148 यूनि‍ट्स का एक्‍सपोर्ट कि‍या है. इसमें पि‍छले वर्ष की तुलना में 14.31 फीसदी की ग्रोथ दर्ज की गई है. 2016-17 में फोर्ड इंडि‍या ने 1.58 लाख कारों का एक्‍सपोर्ट कि‍या था.  

ह्युंडई मोटर इंडि‍या पैसेंजर व्‍हीकल्‍स एक्‍सपोर्ट करने के मामले में दूसरे नंबर पर है. हालांकि, ह्युंडई के एक्‍सपोर्ट में 2017-18 के दौरान 7.39 फीसदी की गि‍रावट दर्ज की गई है. कंपनी ने इस अवधि में 1,53,942 यूनि‍ट्स का एक्‍सपोर्ट कि‍या है जबकि पि‍छले साल यह आंकड़ा 1,67,120 यूनि‍ट्स था. हालांकि, ह्युंडई मोटर के यूटि‍लि‍टी व्‍हीकल एक्‍सपोर्ट में ग्रोथ देखने को मि‍ली हैं. 

वहीं, 2017-18 में देश की सबसे बड़ी कार कंपनी मारुति सुजुकी इंडि‍या के एक्‍सपोर्ट में खास ग्रोथ नहीं आई है. मारुति सुजुकी इंडि‍या का एक्‍सपोर्ट 1,23,903 यूनि‍ट्स हुआ. इसकी ग्रोथ सालाना आधार पर 1.53 फीसदी है. पि‍छले साल कंपनी ने 1.20 लाख यूनि‍ट्स रहा. 

अमेरि‍का की ऑटोमोबाइल कंपनी जनरल मोटर्स ने भारत में कारों को बेचना बंद कर दि‍या है. हालांकि, कंपनी का एक्‍सपोर्ट अब भी जारी है. कंपनी ने 2017-18 के दौरान 83,140 यूनि‍ट्स का एक्‍सपोर्ट कि‍या जबकि पि‍छले साल यह आंकड़ा 70,735 यूनि‍ट्स का था. जीएम के एक्‍सपोर्ट में सालाना आधार पर 17.54 फीसदी की ग्रोथ दर्ज की गई. इसके अलावा , फॉक्‍सवैगन इंडि‍या का एक्‍सपोर्ट भी 2017-18 में 90,382 यूनि‍ट्स के 4.06 फीसदी बढ़ा है.  



loading...