चारा घोटाला मामले में सजा काट रहे लालू यादव की जमानत याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने CBI से मांगा जवाब

लोकसभा चुनाव: बिहार में मायावती ने महागठबंधन से किया किनारा, सभी सीटों पर प्रत्याशी उतारेगी BSP

मुजफ्फरपुर शेल्टर केस में नागेशवर राव पर अवमानना के आरोप में सुप्रीम कोर्ट ने लगाया 1 लाख का जुर्माना, दिनभर कोर्टरूम के कमरे रहेंगे बैठे

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस: बिहार सरकार को सुप्रीम कोर्ट की फटकार, एम नागेश्वर राव को अवमानना का नोटिस, दिल्ली ट्रांसफर किया केस

आईआरसीटीसी घोटाला मामला: लालू यादव एंड फॅमिली को 1-1 लाख रुपए के निजी मुचलके पर मिली जमानत, 11 फरवरी को होगी अगली सुनवाई

EVM Hacking पर नीतीश कुमार ने कहा- ईवीएम से ही मजबूत हुआ लोगों का मताधिकार

लोकसभा चुनाव: बिहार में कांग्रेस को केवल 8 सीटें देना चाहती है RJD, महागठबंधन की राह कठिन

2019-03-15_LaluYadav.jpeg

चारा घोटाला मामले में आरोपी लालू प्रसाद यादव की जमानत याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई को नोटिस जारी कर दो हफ्ते में जवाब मांगा है. चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली तीन जजों की पीठ मैं लालू प्रसाद यादव की जमानत याचिका के लिए वरिष्ठ वकील कपिल सिब्बल पेश हुए. बेंच ने सीबीआई को नोटिस जारी कर कहा कि 2 हफ्ते में जवाब दें. दरअसल, चारा घोटाले के 3 मामले में लालू प्रसाद ने स्वास्थ्य के आधार पर जमानत याचिका दायर की हुई है.

इससे पहले झारखंड हाई कोर्ट ने लालू प्रसाद यादव की जमानत याचिका खारिज कर दी थी. दरअसल, लालू प्रसाद यादव ने स्वास्थ्य के आधार पर जमानत मांगी है, जिसमें कहा गया है कि लालू प्रसाद की उम्र 71 हो गई है. उन्हें डायबटीज, बीपी, हृदय रोग सहित कई अन्य बीमारियां हैं. फिलहाल, उनका रिम्स में इलाज चल रहा है. लालू प्रसाद प्रतिदिन करीब 13 प्रकार की दवाओं का सेवन कर रहे हैं.

आपको बता दें कि लोकसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान हो गया है. ऐसे में लालू प्रसाद यादव का सुप्रीम कोर्ट का रुख करना बेहद अहम माना जा रहा है क्योंकि लालू प्रसाद राजद के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं. 2019 के लोकसभा चुनाव की तैयारी करनी है. जिसको लेकर पार्टी नेताओं के साथ उन्हें कई बैठक करनी होगी और रणनीति तय करनी होगी. उम्मीदवार भी तय करने होंगे. उम्मीदवारों को सिंबल देने के लिए राष्ट्रीय अध्यक्ष का हस्ताक्षर होना जरूरी है.



loading...