PM के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में गिरा निर्माणाधीन फ्लाईओवर, 18 की मौत, चार अफसर सस्पेंड

2018-05-16_Flyover-Collapsed.jpg

PM के संसदीय क्षेत्र केंट स्टेशन से 100 मीटर दूर मंगलवार शाम एक निर्माणाधीन फ्लाईओवर का बीम गिर गया जिससे 18 लोगों की मौत हो गई. आनन-फानन में चीफ प्रोजेक्ट मैनेजर समेत चार अफसरों को सस्पेंड कर दिया गया. हादसा सिगरा थाना क्षेत्र के शहर के सबसे व्यस्त इलाके में शुमार लहरतारा में मंगलवार दोपहर बाद हआ. जहां दो दिन पहले ही पुल पर रखे गए स्लैब को जोड़ने का काम चल रहा था. इसके बावजूद नीचे से ट्रैफिक गुजरता रहा. प्रशासन ने ट्रैफिक नहीं रोका. यह लापरवाही आम लोगों पर भारी पड़ी.

आपको बता दें, बीम करीब 200 मीटर लंबा और 100 टन भारी था. इसकी चपेट में छह कार, एक मिनी बस, एक ऑटोरिक्शा, मोटरसाइकिल समेत कई पैदल यात्री भी आ गए. 

हादसे के दौरान इलाके में भयंकर जाम था. लिहाजा, कई गाड़ियां बीम की चपेट में आईं. ये पूरी तरह पिचक गईं. पांच लोग जख्मी हुए हैं, जिनमें दो की हालत नाजुक है.

जानकारी के मुताबिक, घायलों की संख्या 35 बताई गई है. हालांकि, इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है. घायलों को अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती कराया गया है. तीन लोगों को मलबे से जिंदा निकाला गया.  हादसे के कुछ समयबाद देर रात वाराणसी पहुंचे उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद ने फ्लाईओवर के चीफ प्रोजेक्ट मैनेजर एचसी तिवारी, मैनेजर केआर सूदन, असिस्टेंट इंजीनियर राजेश और अपर इंजीनियर लालचंद को निलंबित किए जाने की जानकारी दी.

राज्य सेतु निगम पर घटिया सामग्री लगाने का आरोप सामने आ रहा है. CMआदित्यनाथ ने घटना की जांच के लिए 3 सदस्यीय समिति का गठन किया और 48 घंटे में रिपोर्ट देने का आदेश दिया है. 



loading...