ताज़ा खबर

नोएडा में पुलिस कमिश्नर के आने से पहले ही जला दी गईं फाइलें, पुलिस महकमे में हड़कंप

2020-01-14_Files.jpg

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ और नोएडा में कमिश्नर प्रणाली की शुरुआत हो गई है. नए कमिश्नर ने अभी ज्वाइन भी नहीं किया है. इससे पहले बड़ी है कि ग्रेडर नोएडा स्थित कमिश्नर ऑफिस के पीछे मंगलवार की सुबह गैंगस्टर और गुंडा एक्ट की फाइलें जलती मिली हैं. इसकी खबर मिलते ही पुलिस महकमे में हड़कंप मचा हुआ है.

यह फाइलें किस केस से संबंधित थी? इन्हें किसने जलाया? अभी इसकी जानकारी नहीं मिली है. इस संबंध में कोई भी अधिकारी कुछ भी नहीं बोल रहा है. आपको बता दें कि इससे पहले ग्रेटर नोएडा के सूरजपुर स्थित जिला कमांडेंट होमगार्ड कार्यालय में मस्टररोल में आग लगा दी गई थी. जिन मस्टर रोल में आग लगाई गई थी. वह घोटाले से जुड़े हुए थे.

दरअसल, बतौर पुलिस कमिश्नर IPS आलोक सिंह के कार्यभार संभालने से गौतमबुद्ध नगर जिले में पुलिस का स्ट्रक्चर बदल जाएगा. आलोक सिंह की टीम में 2 अतिरिक्त पुलिस आयुक्त यानी आईजी रैंक के अफसर होंगे. जिनमें से एक लॉ एंड आर्डर संभालेंगे और दूसरे को क्राइम और हेडक्वार्टर की जिम्मेदारी सौंपी गई है. इस टीम में 7 एसपी रैंक के भी अधिकारी तैनात किए जाएंगे. इस नए सिस्टम के तहत एक महिला एसपी रैंक की अधिकारी महिला सुरक्षा के लिए तैनात की जाएगी. साथ ही एसपी एडिशनल कमिश्नर एसपी रैंक का अधिकारी यातायात के लिए विशेष रूप से तैनात होगा. इस टीम में 9 एडिशनल डीसीपी भी होंगे.

नई पुलिस टीम में एक अस्सिटेंट रेडियो ऑफिसर और एक चीफ ऑफिसर होंगे. नोएडा में दो नए पुलिस थाने भी बनाए जाएंगे. आपको बता दें कि नोएडा की आबादी लगभग 25 लाख है और 24 पुलिस स्टेशन हैं.


 



loading...