SC का आदेश, ताज की सुरक्षा पर योगी सरकार 4 हफ्ते में पेश करे विजन डॉक्यूमेंट

गरीब सवर्णों को 10 फीसदी आरक्षण के विधेयक पर योगी कैबिनेट की मुहर, सरकारी नौकरियों और शिक्षण संस्थानों में आरक्षण होगा लागू

अवैध खनन मामले में IAS बी.चन्द्रकला और सपा नेता समेत 4 को ED का समन

यूपी: ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे पर घने कोहरे के चलते आपस में टकराए 50 वाहन, 30 से ज्यादा लोग घायल

प्रयागराज कुंभ: सपरिवार सहित गंगा आरती में शामिल हुए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, लोगों को दी शुभकामनाएं

उत्तर प्रदेश के लखनऊ, नोएडा, मेरठ, हापुड़, मुरादाबाद के अस्पतालों और डाक्टरों के आवास पर आयकर विभाग का छापा

'लखनऊ गेस्‍टहाउस कांड' पर शिवपाल यादव ने कहा- बहनजी ने मुझ पर यौन शोषण का आरोप लगाया था

2018-02-08_taj-mahal-up-supreme-court.jpg

दुनिया के सात अजूबों में से एक ताजमहल के आसपास अचानक बढ़ी चमड़े की यूनिट पर सुप्रीम कोर्ट ने यूपी की योगी सरकार से जवाब मांगा है. कोर्ट ने योगी सरकार से पूछा है कि होटल लगातार ताजमहल के पास क्यों बनाए जा रहे हैं. आगरा में पानी की पाइपलाइन डालने के लिए 234 पेड़ काटने की अनुमति भी फिलहाल योगी सरकार को नहीं मिली. सुप्रीम कोर्ट में जस्टिस मदन बी लोकुर और जस्टिस दीपक गुप्ता की बेंच ने यूपी सरकार को चार हफ्ते के भीतर इस पर जवाब देने को कहा है.

ताजमहल के संरक्षण को लेकर इससे पहले हुई सुनवाई में भी सुप्रीम कोर्ट ने योगी सरकार से कहा था कि ताजमहल को कई सालों तक के लिए संरक्षित करने के लिए अस्थायी उपाय पर्याप्त नहीं होंगे. सुप्रीम कोर्ट ने योगी सरकार को कहा था कि आपको इमारत को 15 या 20 साल के लिए सुरक्षित नही करना बल्कि 300, 400 साल के लिए सुरक्षित करना है. बता दें कि ताज़महल को सुरक्षित रखने के लिए योगी सरकार को सुप्रीम कोर्ट में विजन डॉक्यूमेंट देना है.



loading...