FIFA World Cup: आज होगा पुर्तगाल-स्पेन का मुकाबला, रोनाल्डो पर रहेंगी सभी की निगाहें

ICC World Cup 2019: टीम इंडिया के लिए खुशखबरी, केदार जाधव फिट घोषित

कप्तान विराट कोहली को मिला सर्वश्रेष्ठ अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर और बल्लेबाज का खिताब, बुमराह बने सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज

IPL 2019: दूसरे एलिमिनेटर मुकाबले में आज दिल्ली कैपिटल्स और सनराइजर्स हैदराबाद के बीच होगी आगे निकलने की जंग, हारने वाली टीम होगी बाहर

हितों के टकराव मामले में सचिन तेंदुलकर और वीवीएस लक्ष्मण को मिला नोटिस, 14 मई को होगी पेशी

लोकसभा चुनाव: महेन्द्र सिंह धोनी ने रांची में परिवार के साथ किया मतदान, जीवा ने लोगों से वोट डालने की अपील

IPL 2019: रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर को उसके गढ़ में मात देने उतरेगी सनराइजर्स हैदराबाद, डेविड वार्नर और जॉनी बेयरस्टो की खलेगी कमी

2018-06-15_CristianoRonaldo.jpg

रूस में चल रहे फीफा विश्वकप के दूसरे दिन यूरोपीय चैंपियन पुर्तगाल का मुकाबला मजबूत माने जा रहे पड़ोसी स्पेन के खिलाफ होगा. इस मैच में सभी की निगाहें पुर्तगाल के क्रिस्टियानो रोनाल्डो पर टिकी रहेंगी जो अपने चमकदार करियर में विश्व कप ट्राफी हासिल करने का संभवत: आखिरी प्रयास करेंगे. हालांकि स्पेन की टीम भी कमजोर नहीं बल्कि तगड़ी ही मानी जा रही है. 

स्पेन की टीम इस मैच में कोच जुलेन लोपेटेगुइ को अचानक बर्खास्त किए जाने के फैसले को भुलाकर मैदान पर उतरेगी. लोपेटेगुइ को रीयाल मैड्रिड से जुड़ने जा रहे हैं जो रोनाल्डो का क्लब है. यही नहीं स्पेन के छह खिलाड़ी भी इस क्लब से जुड़े हुए हैं और इसलिए जब 33 वर्षीय रोनाल्डो अपने क्लब के साथियों के खिलाफ नजर आएंगे तो यह दिलचस्प नजारा होगा. रोनाल्डो हालांकि अभी क्लब के बारे में नहीं बल्कि विश्व कप के बारे में सोच रहे हैं क्योंकि उनके नाम पर अगर कोई ट्राफी दर्ज नहीं है तो वह विश्व कप है. 

पुर्तगाल को खिताब का प्रबल दावेदार माना रहा है. उसने दो साल पहले फ्रांस को हराकर यूरोपीय खिताब जीता था. रोनाल्डो भले ही अब 33 साल के हैं लेकिन वह शारीरिक तौर पर मजबूत हैं और वर्तमान बैलन डिओर विजेता है. वह जब तक चाहें तब तक खेल सकते हैं लेकिन 2022 में अपने पांचवें विश्व कप में उनकी वापसी की कल्पना करना मुश्किल है. अगर उन्हें अपने नाम के आगे विश्व कप विजेता जोड़ना है तो यह सर्वश्रेष्ठ मौका है. इससे बेहतर क्या हो सकता है कि पुर्तगाल अपने पड़ोसी के खिलाफ जीत दर्ज करके ग्रुप बी में शीर्ष स्थान हासिल करे जिसमें ईरान और मोरक्को दो अन्य टीमें हैं. 

पुर्तगाल और स्पेन के खिलाड़ी एक दूसरे के खेल को अच्छी तरह से समझते हैं और ऐसे में यह मुकाबला रोमांचक होने की संभावना है. यह देखना भी दिलचस्प होगा कि स्पेन की टीम कोच को शुरुआती मैच से दो दिन पहले बर्खास्त किये जाने से उबर पाती है या नहीं. यह उसके नये कोच फर्नांडो हिरेरो के लिये भी परीक्षा का समय होगा जिन्हें कम समय में बड़ी भूमिका निभानी होगी.



loading...