फारूक अब्दुल्ला का विवादित बयान, बालाकोट एयर स्ट्राइक को बताया चुनावी स्टंट

वाइस एडमिरल बिमल वर्मा की याचिका को रक्षा मंत्रालय ने किया खारिज, जानें क्या है मामला

कमल हासन ने ‘हिंदू’ शब्द को लेकर दिया विवादित बयान

सरकार के लिए विपक्ष की मोर्चेबंदी, राहुल गांधी से मिले नायडू, शाम को लखनऊ में अखिलेश-मायावती से करेंगे मुलाकात

लोकसभा चुनाव: PM मोदी और अमित शाह को मिली क्लीनचिट से नाराज चुनाव आयुक्त अशोक लवासा ने EC की मीटिंग से किया किनारा

PM मोदी की 5 साल में पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस, कहा- फिर बनेगी पूर्ण बहुमत वाली NDA की सरकार

साध्‍वी प्रज्ञा के नाथूराम गोडसे वाले बयान पर पीएम मोदी ने कहा- दिल से कभी माफ नहीं कर पाऊंगा, अनिल सौमित्र को पार्टी से निलंबित किया

2019-03-11_FarooqAbdullah.jpg

नेशनल कांफ्रेंस अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला ने जम्मू-कश्मीर में लोकसभा और विधानसभा चुनाव एकसाथ न करवाने पर तीखी टिप्पणी की है. फारूक अब्दुल्ला ने एयरस्ट्राइक पर भी सवाल खड़े किए हैं. सभी दल एक साथ (लोकसभा और विधानसभा) चुनाव कराने के पक्ष में हैं.

फारूक बोले कि जम्मू-कश्मीर में लोकसभा चुनावों के लिए व्यवस्थाएं और माहौल अनुकूल है, लेकिन फिर भी राज्य में विधानसभा चुनाव नहीं हैं? स्थानीय निकाय चुनाव शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न हुए, पर्याप्त बल मौजूद हैं, फिर राज्य चुनाव क्यों नहीं हो सकते?

फारूक ने कहा कि "हम हमेशा से जानते थे कि पाकिस्तान के साथ लड़ाई या झड़प होगी. यह सर्जिकल स्ट्राइक (हवाई हमला) इसलिए किया गया क्योंकि चुनाव नजदीक आ रहे हैं. हमने करोड़ों का एक विमान खोया. शुक्र है कि पायलट (IAF) बच गया और सम्मान के साथ पाकिस्तान से लौटा.

चुनाव आयोग ने रविवार को जम्मू-कश्मीर सहित पूरे देश में लोकसभा चुनाव 7 चरणों में कराए जाने की घोषणा की, लेकिन सुरक्षा स्थिति को आधार बताकर जम्मू-कश्मीर में विधानसभा चुनाव कराने से इनकार कर दिया. जम्मू-कश्मीर में पांच चरणों में लोकसभा चुनाव कराए जाएंगे. सुरक्षा कारणों से राज्य की अनंतनाग लोकसभा सीट पर तीन चरणों में मतदान कराए जाएंगे.



loading...