फारूक अब्दुल्ला का विवादित बयान, बालाकोट एयर स्ट्राइक को बताया चुनावी स्टंट

Lok Sabha Eleciton 2019: भाजपा ने जारी की 11 उम्मीदवारों की एक और लिस्ट, कैराना से हुकुम सिंह की बेटी का टिकट कटा

सैम पित्रोदा के विवादित बयान पर अमित शाह ने कहा- जनता और जवानों से माफी मांगे राहुल गांधी

भारत के पहले लोकपाल बने जस्टिस पिनाकी चंद्र घोष को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दिलाई शपथ

इमरान खान का ट्वीट, पाकिस्तान के नेशनल डे पर पीएम मोदी ने भेजा संदेश, भारत का जवाब, ये परंपरा का हिस्सा

पीएम नरेंद्र मोदी ने ब्लॉग लिखकर शहीदों और राम मनोहर लोहिया को किया याद, कांग्रेस पर बोला हमला

आतंकी हाफिज सईद के संगठन के खिलाफ NIA ने दाखिल की चार्जशीट, भारत में करते थे स्लीपर सेल की भर्ती

2019-03-11_FarooqAbdullah.jpg

नेशनल कांफ्रेंस अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला ने जम्मू-कश्मीर में लोकसभा और विधानसभा चुनाव एकसाथ न करवाने पर तीखी टिप्पणी की है. फारूक अब्दुल्ला ने एयरस्ट्राइक पर भी सवाल खड़े किए हैं. सभी दल एक साथ (लोकसभा और विधानसभा) चुनाव कराने के पक्ष में हैं.

फारूक बोले कि जम्मू-कश्मीर में लोकसभा चुनावों के लिए व्यवस्थाएं और माहौल अनुकूल है, लेकिन फिर भी राज्य में विधानसभा चुनाव नहीं हैं? स्थानीय निकाय चुनाव शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न हुए, पर्याप्त बल मौजूद हैं, फिर राज्य चुनाव क्यों नहीं हो सकते?

फारूक ने कहा कि "हम हमेशा से जानते थे कि पाकिस्तान के साथ लड़ाई या झड़प होगी. यह सर्जिकल स्ट्राइक (हवाई हमला) इसलिए किया गया क्योंकि चुनाव नजदीक आ रहे हैं. हमने करोड़ों का एक विमान खोया. शुक्र है कि पायलट (IAF) बच गया और सम्मान के साथ पाकिस्तान से लौटा.

चुनाव आयोग ने रविवार को जम्मू-कश्मीर सहित पूरे देश में लोकसभा चुनाव 7 चरणों में कराए जाने की घोषणा की, लेकिन सुरक्षा स्थिति को आधार बताकर जम्मू-कश्मीर में विधानसभा चुनाव कराने से इनकार कर दिया. जम्मू-कश्मीर में पांच चरणों में लोकसभा चुनाव कराए जाएंगे. सुरक्षा कारणों से राज्य की अनंतनाग लोकसभा सीट पर तीन चरणों में मतदान कराए जाएंगे.



loading...