विडियो: मध्यप्रदेश में किसान ने की आत्महत्या, फसल ख़राब होने के चलते 95 हज़ार का था कर्ज

क़र्ज़ से परेशान होकर किसान ने खाया जहर : मध्यप्रदेश

मध्यप्रदेश: विधानसभा चुनाव से पहले इन प्रस्तावों पर लगी मुहर, 7 नई तहसीलों का होगा गठन

मध्यप्रदेश में राहुल गांधी ने किया वादा, कांग्रेस सत्ता में आई तो चीनियों के हाथ में होगा ‘मेड इन भोपाल’ का मोबाइल

मध्यप्रदेश: रोड शो के दौरान राहुल गांधी विश्वकर्मा मंदिर गए, पोस्टरों से दिग्विजय सिंह गायब

इंदौर की सैफी मस्जिद में नंगे पैर पहुंचे पीएम मोदी, कहा- देश भक्ति के प्रति बोहरा समाज की भूमिका अहम

मध्यप्रदेश में सत्ता में आने के लिए कांग्रस ने चुनी बीजेपी की राह, दिग्विजय सिंह ने कहा- सरकार में आने पर बनायेंगे रामपथ

जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान बोले सीएम शिवराज चौहान, देश को कांग्रेस मुक्त के साथ भाजपा युक्त बनाना है

2017-06-23_suicideinmp.jpg

मध्य प्रदेश के जनपद छतरपुर के ग्राम चितहरी के 75 साल के महेश तिवारी ने अपने घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. बेटे के मुताबिक, उन्हें व उनके परिवार को पिछले वर्ष चना व गेहूं में घाटा लगा था. जिस वजह से काफी नुकसान हुआ था.

इसी नुक्सान के चलते उनके ऊपर 95 हजार रुपए का कर्ज हो गया था. जिसका तनाव उनके पिता को रहता था. साथ ही पिता लंबे समय से बीमार भी थे.
 
महेश का परिवार फसल बटाई पर लेते थे. उनके परिवार में किसी के भी नाम कोई खेती की जमीन नहीं है. वह कई सालों से बटाई पर खेत लिया करते थे और पिछले 2 वर्षों से छतरपुर में किराए के मकान में रहते थे. 

इस बारे में छतरपुर एसडीएम का भी मानना है कि मृतक के परिवार में किसी प्रकार की कोई खेती की जमीन नहीं थी. वह पिछले कई सालों से बटाई पर लेकर खेती करता था और पारिवारिक तनाव के चलते उन्होंने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. इसकी पूरी विस्तृत जांच कराई जा रही है.

छतरपुर जिले में हुई किसान मजदूर की आत्महत्या को लेकर कई तरह के सवाल खड़े हो रहे हैं. लोगों का मानना भी है कि छतरपुर जिले में गेहूं व चना की फसल को किसी प्रकार का नुकसान नहीं हुआ. किसान मजदूर जिस क्षेत्र में बता रहा है उस क्षेत्र में तो क्या पूरे जिले में किसी प्रकार के किसान को नुकसान नहीं हुआ है. महेश की मौत पर इस तरह के सवाल खड़े हो गये हैं. जांच के बाद ही असलियत बाहर आ सकेगी.

मध्य प्रदेश से अरविन्द कुमार मिश्रा की रिपोर्ट.

2017-08-02_farmer-sucide-in-mp.jpg

यह वारदात है, छत्तरपुर के बकस्वाहा जिले की जहाँ पर देवरी गाँव के किसान राम प्रसाद लोधी ने क़र्ज़ से परेशान होकर जहर खा लिया. गंभीर हालत में किसान को जिला अस्पताल ले जाया गया.

जहाँ पर इलाज के दौरान किसान की मौत हो गई. राम प्रसाद के परिजनों का कहना है कि राम प्रसाद के ऊपर एक्सिस बैंक का काफी क़र्ज़ चढ़ा हुआ था. उनके परिवार वालों ने यह भी बताया कि राम प्रसाद ने ट्रैक्टर के लिए एक्सिस बैंक से 4 लाख का क़र्ज़ लिया था.

राम प्रसाद के परिजनों ने यह आरोप लगाया कि एक्सिस बैंक के कर्मचारियों ने किसान को धमकाया और कहा, अगर पैसे वापस नहीं किये. तो उसे जेल भेज दिया जायेगा. वह इस बात से इतना डर गया कि उसने आत्महत्या का कदम उठाया. राम प्रसाद के घर वाले उम्मीद कर रहे हैं कि एक्सिस बैंक के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्यवाही हो.

छत्तरपुर से सुभम सोनी की रिपोर्ट .



loading...